ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट 2020 की परीक्षा: 56.07 लाख परीक्षार्थी शामिल
February 18, 2020 • Desk • NATIONAL

नई दिल्ली: निर्भया के दोषियों के खिलाफ दिल्ली की पटियाला हाउस कोर्ट ने डेथ वारंट जारी कर दिया है। चारों दोषियों को तिहाड़ जेल में 3 मार्च को सुबह 6 बजे फांसी दी जाएगी। पटियाला हाउस कोर्ट ने एक बार फिर निर्भया के गुनगहारों के खिलाफ डेथ वारंट जारी किया है। लेकिन सवाल यह है कि क्या तीन मार्च इंसाफ का अंतिम दिन होगा या एक बार फिर देश को इंतजार करना पड़ेगा।

सिद्धार्थ शुक्ला को 50 लाख तो माहिरा शर्मा को 3 नए ऑफर सिद्धार्थ शुक्ला को 50 लाख तो माहिरा शर्मा को 3 नए ऑफर दुनिया को अलविदा कह चुके ये बिग बॉस कंटेस्टेंट्स दुनिया को अलविदा कह चुके ये बिग बॉस कंटेस्टेंट्स सिद्धार्थ के बिग बॉस-13 जीतने के बाद सलमान के शो पर लगे आरोप सिद्धार्थ के बिग बॉस-13 जीतने के बाद सलमान के शो पर लगे आरोप नीता अंबानी से लेकर उनकी बहू- बेटी तक रिपीट करती हैं ज्वैलरी सिद्धार्थ शुक्ला बने बिग बॉस 13 के विनर, असीम रियाज रनर अप कभी बीच पर बिकिनी में दौड़ती तो कभी आराम फरमाती नजर आईं मौनी डिलीवरी से पहले बिकिनी वैक्स कराने चली गई किम कर्दाशियन बॉलीवुड सेलेब्स ने फोटो शेयर कर किया क्रिसमस विश

Corona Virus के डर से दिल्ली के महर्षि वाल्मीकि अस्पताल का बड़ा फैसला, बायोमेट्रिक अटेंडेंस अगले आदेश तक बंद. कोरोना का खौफ पुरी दुनिया में है। इस वायरस के संक्रमण से निपटने के लिए सभी देश जुटे हुए हैं। 
चीन में अब तक 1700 से ज्यादा की मौत. चीन के वुहान और हुबेई से हर एक दिन काल के गाल में समा जाने वालों की खबर आती है तो दुनिया के अलग अलग देशों में भी इसका खौफ है। भारत के केरल में तीन लोगों में कोरोना की पुष्टि हुई थी। राहत की बात यह है कि दो लोग इस बीमारी के खतरे से बाहर निकल चुके हैं। स्वास्थ्य मंत्रालय का कहना है कि हालात पर पैनी नजर है, किसी को डरने की जरूरत नहीं है। लेकिन ऐहतियात के तौर पर अगर किसी को कोरोना का लक्षण दिखाई दे तो वो फौरन अस्पताल की तरफ रुख करे।

P-8I: 'पुलवामा' और 'डोकलाम' के बाद सीमा पर पहरा दे रहा था नौसेना का ये विमान, CDS बिपिन रावत ने किया खुलासा. रक्षा जगत में इन दिनों केंद्रीय थिएटर कमांड बनाए जाने की चर्चा है। सरकार की ओर से चीफ ऑफ डिफेंस स्टाफ के पद को बनाने और जनरल बिपिन रावत की इस पर नियुक्ति के बाद लगातार केंद्रीय संयुक्त सैन्य कमान को लेकर खबरें सामने आ रही हैं जिसमें भारतीय सेना, वायुसेना और नौसेना को एक ही ईकाई की तरह एकीकृत करने और संयुक्त अभियानों में महारथी बनाने पर ध्यान दिया जा रहा है। दरअसल जनरल बिपिन रावत तीनों सेनाओं के साथ मिलकर काम करने की रणनीति पर बोल रहे थे और इस दौरान उन्होंने एक उदाहरण दिया। उन्होंने बताया कि 2017 में चीन के साथ भूटान से लगे डोकलाम इलाके में सैन्य तनाव के समय और 2019 में पुलवामा आतंकी हमले के बाद चीन और पाकिस्तान की सैन्य गतिविधि पर नजर रखने के लिए भारतीय नौसेना के पी-8 आई पनडुब्बी रोधी युद्धक और टोही विमान का इस्तेमाल किया गया था। चीन- पाकिस्तान के साथ तनाव की स्थिति के बीच साल 2017 और 2019 में जनरल बिपिन रावत सेना प्रमुख थे। उन्हें नौसेना के पी8-आई विमान की क्षमता के बारे में पता चला और आसमान से सीमा पर नजर रखने के लिए इस विमान की तैनाती की गई थी। आम तौर पर नौसेना इसका इस्तेमाल हिंद महासागर क्षेत्र में नजर रखने और पनडुब्बी रोधी ऑपरेशन के दौरान करती है। पी-8 आई की खूबियां: यह दुनिया के सबसे बेहतरीन टोही विमानों में से एक माना जाता है। यह विमान आधुनिक लंबी दूरी के रडार, घातक हार्पून मिसाइल, पानी के नीचे हमला करने के लिए टॉरपीडो और रॉकेट से लैस हो सकता है। हिंद महासागर क्षेत्र में भारत के नियंत्रण में यह विमान खासा मददगार है।
इस विमान को अमेरिका की बोइंग कंपनी बनाती है। इसमें स्वदेशी संचार और अन्य कई उपकरण लगाए गए हैं। चीनी पनडुब्बियों के लिए हिंद महासागर क्षेत्र में यह एक बड़ा सिरदर्द है। यह विमान 907 किलोमीटर प्रतिघंटा की रफ्तार से एक बार में 2200 किलोमीटर की दूरी तय कर सकता है। समुद्री अभियानों के अलावा इसका इस्तेमाल जमीनी ऑपरेशन के लिए भी किया जा सकता है।

यूपी बोर्ड की हाईस्कूल व इंटरमीडिएट 2020 की परीक्षाएं मंगलवार से शुरू हो रही है। इस परीक्षा 56.07 लाख परीक्षार्थी शामिल होंगे। इन पर नजर रखने के लिए पहली बार 1.90 लाख कैमरों की मार्फत वेबकॉस्टिंग होगी यानी बलिया के किसी गांव के परीक्षा केन्द्र को लखनऊ में बैठकर देखा जा सकेगा। इसके लिए लखनऊ और प्रयागराज में राज्यस्तरीय कंट्रोलरूम बनाया गया है। दूसरी तरफ, सोमवार को उप मुख्यमंत्री डा दिनेश शर्मा ने परीक्षा स्पेशल बसों को हरी झण्डी दिखा कर रवाना किया।

सोमवार देर शाम माध्यमिक शिक्षा विभाग की प्रमुख सचिव आराधना शुक्ला ने राजधानी स्थित कंट्रोल रूम का निरीक्षण कर तैयारियों का जायजा लिया। यूपी बोर्ड परीक्षाओं को नकलमुक्त रखने के लिए लगभग 700 संवेदनशील और 275 अतिसंवेदनशील परीक्षा केन्द्रों पर खास नजर रहेगी। लखनऊ स्थित कंट्रोल रूम में 60 मॉनिटर लगाए गए हैं। वहीं हर जिले में भी कंट्रोल रूम बनाया गए हैं जहां जिलाधिकारी द्वारा नामित  प्रशासनिक अधिकारी तैनात किया गया है। हाईस्कूल की परीक्षा 3 मार्च को और इंटरमीडिएट की परीक्षा 6 मार्च को खत्म होगी और इसका रिजल्ट  25 अप्रैल तक घोषित किए जाने की संभावना है।

संवेदनशील जिलों में खास इंतजाम
वहीं नकल के लिए संवेदनशील जिलों में सिली हुई कॉपियां भेजी गई हैं। उत्तर पुस्तिकाएं इस बार चार रंगों में हैं। बोर्ड परीक्षा की कॉपियां गुलाबी, पीले, हरे व नीले रंग की होंगी।  वहीं इस बार उत्तर पुस्तिकाएं में क्रमांक भी दर्ज होगा ताकि बाहरी कॉपियों से इन्हें बदला न जा सके।  

बोर्ड परीक्षार्थियों को परीक्षा के लिए शुभकामनाएं। परीक्षार्थी शांत मन से परीक्षा देने जाए। यूपी सरकार नकलमुक्त परीक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। परीक्षार्थियों के लिए बस सेवा भी उपलब्ध कराई जा रही है। 
डा दिनेश शर्मा, उप मुख्यमंत्री

परीक्षा में जाने से पहले ध्यान रखें ये 5 बातें-
1- बोर्ड परीक्षा के पहले दिन परीक्षार्थियों को आधे घंटे पहले मिलेगा प्रवेश दिया जाएगा। उसके बाद परीक्षा से 15 मिनट पहले प्रवेश दिया जाएगा।
2- परीक्षार्थी यूपी बोर्ड द्वारा जारी प्रवेश पत्र, हाईस्कूल के छात्र कक्षा-9 व इण्टरमीडिएट के छात्र कक्षा-11 का रजिस्ट्रेशन कार्ड ले जाएं।
3- आधारकार्ड या सरकार द्वारा जारी अन्य कोई पहचान पत्र अपने साथ ले जाएं। 
4- आवश्यकतानुसार पारदर्शी पेंसिल बाक्स व पानी की बोतल भी ले जा सकते हैं।
5- मोबाइल, हेडफोन, कैलकुलेटर, स्मार्ट वाच, बैग या परीक्षा को प्रभावित करने वाले अन्य इलेक्ट्रानिक यन्त्र न ले जाएं

 मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के नेतृत्व वाली उत्तर प्रदेश की भाजपा सरकार आज यानि 18 फरवरी को अपना चौथा पूर्ण बजट प्रस्तुत करेगी। बजट आकार 5 से 5.25 लाख करोड़ होने का अनुमान है। बजट के माध्यम से प्रदेश सरकार एक्सप्रेस वे, महिला कल्याण एवं सुरक्षा, शुल्क प्रतिपूर्ति व छात्रवृत्ति, पूर्वांचल व बुंदेलखंड को पैकेज, मेडिकल कालेजों का निर्माण, बड़े शहरों के मेट्रो प्रोजेक्ट को भरपूर धनराशि दे सकती है।

बजट में पूर्वांचल और बुंदेलखंड के पिछड़नेपन को दूर करने के लिए अच्छी खासी धनराशि देने की बातें बताई जा रही हैं। इस धनराशि से इन दोनों क्षेत्रों की समस्याओं को दूर करने की कोशिश होगी। सड़क, बिजली, पानी से जुड़ी योजनाओं को तेज किया जाएगा।


अटल जी के नाम पर नई योजनाएं
बजट में पू‌र्व प्रधानमंत्री स्व. अटल बिहारी वाजपेयी के नाम से नई योजनाएं लाने की चर्चाएं भी हैं। अटलजी के नाम पर शहरों में पार्क बनाने तथा जनसरोकारों से जुड़ी कुछ योजनाएं चलाने की घोषणा बजट में शामिल किए जा सकते हैं।

राजधानी की योजनाओं को मिलेगी रफ्तार
गोमती रीवर फ्रंट के काम को आगे बढ़ाने के साथ ही रीवर फ्रंट के पार्क में अटलजी की प्रतिमा लगाने की घोषणा की जा सकती है। जाम वाले इलाकों के लिए नये फ्लाईओवर और आरओबी की योजनाएं बजट का हिस्सा हो सकती हैं।

सजेगी काशी, पर्यटन के साथ ही मेट्रो को पर्याप्त बजट 
बजट के माध्यम से प्रदेश सरकार वाराणसी, मथुरा और अयोध्या के धार्मिक और पर्यटन विकास की योजनाओं को रफ्तार दे सकती है। वाराणसी के लिए पर्यटन की नई योजनाएं और वहां मेट्रो रेल के लिए पर्याप्त बजट दिए जाने की चर्चा है।

एक्सप्रेस-वे के कामों के लिए 10 हजार करोड़ तक
बजट में पूर्वांचल, बुंदेलखंड एक्सप्रेस वे के साथ ही गंगा एक्सप्रेस वे के लिए भरपूर धनराशि दिए जाने की चर्चाएं हैं। एक्सप्रेस वे के कामों को रफ्तार देने के लिए करीब 10 हजार करोड़ रुपये तक आवंटित किए जा सकते हैं। औद्योगिक कारीडोर खासकर डिफेंस कारीडोर के विकास पर भी बजट में खास प्रबंध दिखने के आसार हैं।

महिला कल्याण और सुरक्षा के दावों को मजबूत करेगी सरकार
बजट में सभी धर्मों की परित्यक्त महिलाओं के लिए पेंशन की व्यवस्था किए जाने की सूचनाएं हैं। बताया जाता है कि प्रदेश सरकार ने तीन तलाक व परित्यक्त महिलाओं के लिए 500 करोड़ रुपये से अधिक धनराशि देने की घोषणा बजट में कर सकती है। महिलाओं की सुरक्षा से जुड़ी योजनाओं में इस बार पिछले वर्ष के मुकाबले करीब 40 फीसदी अधिक धनराशि दिए जा सकते हैं।

केंद्र सहायतित योजनाओं को देंगे पर्याप्त धनराशि
केंद्र सरकार की सहायता से जुड़ी जन कल्याण की योजनाओं जैसे आवास, ग्रामीण सड़क, स्वास्थ्य, कृषि-सिंचाई, पेयजल आदि योजनाओं के मद में भी पर्याप्त धनराशि का प्रबंध बजट में दिखेगा। केंद्र सरकार ने अपने बजट में इन योजनाओं के लिए बजट का आकार इस बार बड़ा किया है।

बड़े शहरों में मेट्रो रेल की योजनाओं को देंगे धनराशि
वाराणसी, गोरखपुर, कानपुर, आगरा जैसे शहरों में मेट्रो रेल योजना को गति देने की तैयारी भी बजट में दिख सकती है। इन शहरों में मेट्रो रेल योजना के लिए इन योजनाओं के लिए 500 करोड़ रुपये तक आवंटित किए जा सकते हैं।

मेडिकल कालेजों और स्वास्थ्य सुविधाओं को भी देंगे धन
बजट में प्रदेश में प्रस्तावित और बन रहे नये मेडिकल कालेजों के लिए भी पर्याप्त धनराशि दिए जा सकते हैं। स्वास्थ्य सुविधाओं और सेवाओं को बेहतर करने के लिए भी धनराशि आवंटित किए जाने की चर्चाएं हैं।

UN chief Guterres's remarks in Pak: India says J&K its integral part

Maken hits out at Deora for lauding Kejriwal-led Delhi govt

Aircel-Maxis case: Court seeks ED, CBI response on Karti's plea

Tatas pay Rs 2,197 cr to settle AGR dues

RFL case: Delhi court dismisses bail plea of ex-Fortis Healthcare promoter Malvinder

Delhi govt to present its budget after Holi: Sisodia

HC notices to Centre, AAP govt, police as injured Jamia student seeks compensation

Hope they are hanged this time: Nirbhaya's mother

British MP, chair of group on Kashmir, denied entry into India, deported to Dubai

Will work to fulfil promises made in guarantee card: AAP ministers after taking charge

Nirbhaya case: Delhi court issues fresh death warrants for Mar 3 against 4 convicts

Shaheen Bagh: People have right to protest but there must be balancing factor, says SC

Water goes to Satyendar Jain, Rai gets environment, Rajendra Pal WCD: Sources

BJP govt disrespected women by arguing they don't deserve command posts in Army: Rahul Gandhi

Babulal Marandi''s JVM(P) merges with BJP 

UN chief Guterres's remarks in Pak: India says J&K its integral part

Maken hits out at Deora for lauding Kejriwal-led Delhi govt

Aircel-Maxis case: Court seeks ED, CBI response on Karti's plea