ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
वैक्सीन के इंतजार में बैठे रहना बेमानी- covid-19
October 13, 2020 • DESK • International

एक दुर्लभ खगोलीय घटना में मंगल ग्रह, पृथ्वी व सूर्य एक लाइन में होंंगे। इससे मंगल ग्रह आम दिनों की अपेक्षा ज्यादा बड़ा और चमकीला दिखाई देगा। खगोलशास्त्र में इस घटना को मंगल ग्रह का 'अपोज़िशन' कहा जाता है। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा के अनुसार, यह नजारा हर 26 माह में एक बार दिखाई देता है। अगली बार मंगल ग्रह और पृथ्वी दोनों एक दूसरे के नजदीक दिसंबर 2022 से पहले नहीं आएंगे। उल्लेखनीय है कि 6 अक्टूबर 2020 को भी मंगल ग्रह पृथ्वी के काफी करीब दिखाई दिया था। उस समय दोनों ग्रहों की दूरी 38.6 मिलियन मील थी। अब 2035 से पहले दोनों ग्रह इतने करीब नहीं आएंगे।इससे पहले 2003 में मंगल ग्रह पृथ्वी से 34.8 मिलियन मील की दूरी पर पहुंच गया था। यह घटना 59,619 सालों में पहली बार हुई थी। अब साल 2287 तक मंगल फिर पृथ्वी के इतने करीब नहीं आएगा। इसे लेकर पूरी दुनिया के अंतरिक्ष विज्ञानियों में बेहद उत्साह है. इस दिन मंगल ग्रह पृथ्वी के बेहद करीब होगा. यानी इतना अधिक करीब जो सालों में कभी एक बार ही होता है. इस कारण यह ग्रह काफी बड़ा दिखाई देगा. बेहद लाल और दुर्लभ नजारा देखा जा सकेगा. वैज्ञानिकों ने कहा है कि इसके बाद साल 2035 में ऐसा होगा. मंगल और पृथ्वी की परिक्रमा एक साथ होने के कारण मंगल ग्रह को धरती पर सूर्यास्त के समय देखा जा सकेगा. यह बेहद लाल और विशाल दिखाई देगा. अगर आसमान साफ रहा तो इस नजारे को देखा जा सकेगा. वैज्ञानिक कह रहे हैं कि मंगल ग्रह बेहद चमकीला, लाल रंग में चमकता दिखाई देगा. जैसे आप चंद्रमा को देख पाते हैं उसी तरह ये नजारा भी देख सकेंगे.

हाथरस घटना का संज्ञान हाई कोर्ट ने खुद लिया है। पीड़ित इलाहाबाद उच्च न्यायालय की लखनऊ पीठ के समक्ष पेश हुए और उन्होंने कोर्ट को बताया कि लड़की का अंतिम संस्कार करने के लिए उनसे अनुमति नहीं ली गई। पीड़ित परिजनों की मांग- यूपी से बाहर हो केस की सुनवाई, फैसला आने तक सुरक्षा मिले

गद्दी संभालते वक्त पाकिस्तान के पीएम इमरान खान ने कहा कि था जनता के धन का बेजा इस्तेमाल नहीं होना चाहिए।लेकिन वो खुद एक केस में फंसते नजर आ रहे हैं। पाकिस्तान के सुप्रीम कोर्ट ने उनके खिलाफ नोटिस जारी किया है।

आरसीबी और केकेआर के बीच सोमवार रात आईपीएल 2020 का 28वां मैच खेला गया। शारजाह में खेले गए इस मुकाबले में रॉयल चैलेंजर्स बैंगलोर ने बड़ी जीत दर्ज की।

विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) के महानिदेशक टेड्रोस एडानोम गैब्रिसस ने आज कहा कि कोरोनावायरस के खिलाफ लड़ने के लिए सिर्फ वैक्सीन के इंतजार में बैठे रहना बेमानी है बल्कि इसके संक्रमण को प्रसारित होने से रोकने के लिए जो भी व्यवस्थाएं अभी मौजूद हैं, उनका भरपूर इस्तेमाल करना चाहिए। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ने सोमवार को पूर्वी भूमध्य क्षेत्र की क्षेत्रीय समिति को संबोधित करते हुए कहा कि दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामले बढ़ रहे हैं और सभी देशों को अभी सतर्क रहने की जरूरत है। कोविड-19 वायरस अब भी फैल रहा है और कईं लोगों के इसकी चपेट में आने का संदेह है। ऐसी स्थिति में सिर्फ वैक्सीन के इंतजार में बैठा नहीं जा सकता है। मौजूदा स्वास्थ्य व्यवस्था का इस्तेमाल करके लोगों की जिंदगियां बचाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि इसके लिए सबसे पहले बड़े जलसे पर प्रतिबंध लगना चाहिए। दुनियाभर में कोरोना संक्रमण के मामलों के तेजी से बढ़ने के पीछे बड़े जलसे ही जिम्मेदार हैं, अब चाहे वो स्टेडियम में जुटी भीड़ हो, नाइट क्लब हो, धार्मिक स्थल हों या अन्य भीड़भाड़ वाली जगहें। दूसरा सबसे जरूरी, जिन्हें संक्रमण के कारण अधिक खतरा हो उनकी रक्षा करनी जरूरी है ताकि स्वास्थ्य प्रणाली पर कम बोझ पड़े और जिंदगियां बचाई जा सकें। कोरोना के खिलाफ जंग का तीसरा सबसे जरूरी हथियार लोगों को तथा समुदायों को संक्रमण के प्रति जागरूक करना है और उन्हें यह बताना है कि कोविड-19 अनुकूल व्यवहारों का अनुपालन कितना जरूरी है। चौथी आवश्यकता है जन स्वास्थ्य के क्षेत्र में काम करना यानी कोरोना संक्रमितों की पहचान कर उन्हें आइसोलेट करना, जांच करना और देखभाल करना तथा उनके संपर्क में आए लोगों का पता करके उन्हें क्वारंटीन करना।उन्होंने कहा, यह महामारी खत्म हो जाएगी लेकिन यह आखिरी महामारी नहीं है। हमारे बच्चों और हमारे बच्चों के बच्चों के लिए महामारी से लड़ने में बेहतर रूप से तैयार और सक्षम दुनिया को छोड़ जाना, हमारी साझा जिम्मेदारी है। यह सिर्फ एक वैज्ञानिक और प्रौद्योगिकी संबंधी चुनौती नहीं है बल्कि यह चरित्र की भी परीक्षा है। इस महामारी को खत्म करने के लिए, इसे हराने के लिए एकता और सुदृढ़ता जरूरी है और जब इसके खिलाफ एकजुट होकर लड़ेंगे तो इसे फैलने से रोका जा सकता है।

केंद्र सरकार के सभी कर्मचारियों को मिलेगा 10000 रुपये का इंटरेस्ट फ्री फेस्टिवल एडवांस। वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने LTC कैश वाउचर स्कीम का भी किया ऐलान। वहीं, राज्यों को 50 साल के लिए दिया जाएगा 12 हजार करोड़ रुपये का इंटरेस्ट फ्री लोन। इस बीच, खाने-पीने की चीजों के दाम उछलने से सितंबर में खुदरा महंगाई दर बढ़कर 7.34 प्रतिशत रही।

पूर्वी लद्दाख में गतिरोध के समाधान के लिए भारत ने सोमवार को चीन के साथ सातवें दौर की सैन्य वार्ता में बीजिंग से अप्रैल पूर्व की यथास्थिति बहाल करने और विवाद के सभी बिन्दुओं से चीनी सैनिकों की पूर्ण वापसी करने को कहा।

केंद्रीय वित्‍त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सोमवार को कहा कि राज्यों के जीएसटी राजस्व में कमी की भरपाई के लिए केंद्र सरकार बाजार से कर्ज नहीं उठा सकती, क्योंकि इससे बाजार में कर्ज की लागत बढ़ सकती है।

हाथरस केस की सुनवाई करते हुए इलाहाबाद हाई कोर्ट ने पुलिस के प्रति सख्त रूख रखा। कोर्ट ने शीर्ष अधिकारियों से पूछा कि अगर पीड़िता अमीर की बेटी होती तो क्या इस तरह रात में अंतिम संस्कार करते।

रिया चक्रवर्ती की एक पड़ोसी डिंपल थवानी ने दावा किया था कि उन्होंने सुशांत की मौत से एक दिन पहले यानी 13 जून को उनको रिया के साथ देखा था। जो कि जांच में झूठा पाया गया है. रिया चक्रवर्ती ने पड़ोसी के खिलाफ कराई पुलिस शिकायत, सुशांत सिंह राजपूत मामले में जांच को कर रही थीं गुमराह

उत्‍तर कोरिया के शीर्ष नेता किम जोंग-उन को आम तौर पर कठोर नेता के तौर पर देखा जाता है, लेकिन अब उन्‍हें रोते हुए और देश की जनता से माफी मांगते हुए देखे जाने की बात सामने आ रही है। बताया जा रहा देश की माली हालत को देखते हुए किम पर दबाव बढ़ रहा है।

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि पहले पाकिस्तान और अब चीन। ऐसा लगता है कि एक अभियान के तहत सीमा विवाद पैदा किए गए हैं। इन देशों के साथ हमारी करीब 7000 किलोमीटर लंबी सीमा है, जहां तनाव जारी है। भारत इस संकट का मजबूती से सामना कर रहा है। रक्षा मंत्री ने सीमावर्ती इलाके में 44 पुलों का उद्घाटन भी किया।

टेलीविजन रेटिंग प्वाइंट (टीआरपी) से छेड़छाड़ करने वाले गिरोह का भंडाफोड़ होने के बाद टीवी पर विज्ञापन देने वालों में भी खलबली मच गई है। फेमस बिस्किट बनाने वाली कंपनी पारले जी ने फैसला किया कि वह अपने प्रोडक्ट का विज्ञापन न्यूज चैनलों पर नहीं देगा।

दक्षिण कश्मीर आतंकवादियों के गढ़ के रूप में माना जाता है। सेने के ऑपरेशन में जो आतंकी मारे जाते हैं उनमें से ज्यादातर का संबंध दक्षिण कश्मीर के शोपियां, पुलवामा, अनंतनाग एवं त्राल से होता है।

हाथरस केस में सीबीआई ने की चूक, फिर गलती सुधारी। एफआईआर की डिटेल्स वेबसाइट पर डाल दी थीं। कुछ घंटों बाद हटाया। वहीं इलाहाबाद हाई कोर्ट से दलित लड़की के परिवार ने सीबीआई की रिपोर्ट को गोपनीय रखने और मामले की जांच यूपी से बाहर ट्रांसफर करने का अनुरोध किया। अगली सुनवाई 2 नवंबर को।

 दो अमेरिकी अर्थशास्त्रियों पॉल आर मिल्ग्रोम और रॉबर्ट वी विल्सन को इकॉनमिक्स के लिए नोबेल अवॉर्ड देने का ऐलान। नीलामी के सिद्धांतों में सुधार लाने और इसके नए तरीकों की खोज के लिए दिया जाएगा अवॉर्ड।

स्काईवन एयरवेज द्वारा संचालित एक चॉपर को सोमवार को भूटान में आपातकालीन लैंडिंग करनी पड़ी. जब पायलट को मालूम चला कि कोई तकनीकी समस्या है तो लैंडिंग करनी पड़ी. बता दें कि चॉपर अरुणाचल प्रदेश के तवांग से चला था.

अदालत ने चिकित्सा अधिकारी की भीड़ द्वारा हत्या मामले में 25 लोगों को दोषी ठहराया. असम में जोरहाट जिला एवं सत्र न्यायाधीश ने जिले के तेओक टी एस्टेट में एक अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी की लिंचिंग (भीड़ द्वारा पीट-पीट कर हत्या) मामले में सोमवार को 25 लोगों को दोषी ठहराया.

अंतरराष्ट्रीय स्तर की कराटे चैम्पियन आर्थिक स्थिति खराब होने के चलते बेच रही हड़ियाझारखंड में खेल के क्षेत्र में प्रतिभा की कमी नहीं है, कई प्रतिभावानों की प्रतिभा पैसे के आभाव और सरकारी उपेक्षाओं के कारण दम तोड़ देती है. राजधानी रांची के कांके में एक ऐसी प्रतिभा रहती है, जो कराटे में सिर्फ ब्लैक बेल्ट ही नहीं बल्कि नेशनल गोल्ड मेडलिस्ट भी है. लेकिन दुर्भाग्य की बात है कि अपनी राजधानी में रहने वाली यह प्रतिभा की धनी खिलाड़ी मजबूरी और बेबसी में जिंदगी गुजार रही है. आर्थिक स्थिति खराब होने के कारण विमला जैसी नेशनल प्लेयर आज हड़िया (राइस बियर) बेच कर अपना और अपने परिवार का  ख्याल रख रही हैं.

श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड ने नवरात्र के पहले माता के दर्शन करने के लिए कटरा आने वाले श्रद्धालुओं को नई सौगात दी है. माता वैष्णो देवी मंदिर में 15 अक्टूबर से प्रतिदिन सात हजार श्रद्धालुओं को दर्शन करने की अनुमति दी जाएगी.

उत्तर प्रदेश से जहां सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद 31 हजार शिक्षकों की भर्ती के लिए नियुक्ति की सूची जारी कर दी गई है. यूपी के 69 हजार शिक्षकों की भर्ती का मामला फंसा था. जिसमें से 31 हजार 161 पदों की भर्ती के लिए सुप्रीम कोर्ट ने मंजूरी दे दी थी.इनकी नियुक्ति की सूची यूपी सरकार ने जारी कर दी है. यूपी के बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने सूची जारी करने की पुष्टि की है. इन सभी की नियुक्ति प्रक्रिया 16 अक्टूबर से शुरू हो जाएगी.16 अक्तूबर को ही नियुक्ति पत्र जारी किया जाएगा. 16 अक्तूबर को कुल 34,594 शिक्षकों को नियुक्ति पत्र मिलेंगे. चयनित अभ्यर्थियों को संबंधित जिले में 14 एवं 15 अक्तूबर को काउंसलिंग के लिए बुलाया गया है.बेसिक शिक्षा मंत्री सतीश द्विवेदी ने इस सूची की पूछती करते हुए बताया कि सुप्रीम कोर्ट के आदेश का पालन करते हुए 31 हज़ार 161 पदों की सूची जारी कर दी गई है. बाक़ी पदों पर कोर्ट के फ़ैसले के मुताबिक़ भर्ती की जाएगी. द्विवेदी ने बताया कि बेसिक शिक्षा परिषद, प्रयागराज द्वारा 31277 अभ्यर्थियों की अनन्तिम चयन सूची वेबसाइट (www.upbasieduboard.gov.in) पर अपलोड की गई है.

राष्ट्रीय कामधेनु आयोग अगले महीने दिवाली के दौरान चीनी उत्पादों का मुकाबला करने के लिए, गाय के गोबर से बने 33 करोड़ पर्यावरण अनुकूल दीये. देश में स्वदेशी मवेशियों के संवर्धन और संरक्षण के लिए 2019 में स्थापित किए गए इस आयोग ने आगामी त्योहार के दौरान गोबर आधारित उत्पादों के उपयोग को प्रोत्साहित करने के लिए एक देशव्यापी अभियान शुरू किया है।15 से अधिक राज्य अभियान का हिस्सा : आयोग के अध्यक्ष वल्लभभाई कथीरिया ने कहा कि चीन निर्मित दीया को खारिज करने का अभियान प्रधानमंत्री के स्वदेशी संकल्पना और स्वदेशी आंदोलन को बढ़ावा देगा। 15 से अधिक राज्य, इस अभियान का हिस्सा बनने के लिए सहमत हुए हैं। उन्होंने कहा कि लगभग 3 लाख दीए पावन नगरी अयोध्या में जलाए जाएंगे, जबकि उत्तर प्रदेश के वाराणसी में एक लाख दीये जलाए जाएंगे। विनिर्माण का काम शुरू हो गया है। हमने दिवाली से पहले 33 करोड़ दीयों को बनाने का लक्ष्य तय किया है। वर्तमान में भारत में प्रतिदिन लगभग 192 करोड़ किलो गोबर का उत्पादन होता है। उन्होंने कहा कि गोबर आधारित उत्पादों की विशाल संभावनाएं मौजूद हैं। इन उत्पादनों को भी बढ़ावा : दीयों के अलावा, आएग गोबर, गौमूत्र और दूध से बने अन्य उत्पादों जैसे कि एंटी-रेडिएशन चिप, पेपर वेट, गणेश और लक्ष्मी की मूर्तियों, अगरबत्ती, मोमबत्तियों और अन्य चीजों के उत्पादन को बढ़ावा दे रहे हैं। कथीरिया ने कहा कि इस पहल से गाय आश्रयों (गौशालाओं) को मदद मिलेगी, जो वर्तमान में कोविड-19 महामारी के कारण वित्तीय मुसीबत में हैं।

बंगाल की खाड़ी पर बने डीप डिप्रेशन के आंध्र प्रदेश के तटीय भागों को 13 अक्टूबर की सुबह पार करने की उम्मीद है। इसके प्रभाव से अगले 24 घंटों के दौरान आंध्र प्रदेश और तेलंगाना में भारी से अति भारी बारिश हो सकती है।आंध्र प्रदेश, ओडिशा और तमिलनाडु के तटों के पास समुद्र में हलचल काफी बढ़ गई है। साथ ही तटों के करीब 40 से 50 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से हवाएँ चल रही हैं।तटीय ओडिशा, मराठवाड़ा के कुछ हिस्सों, अंडमान व निकोबार द्वीपसमूह के उत्तरी भागों, तटीय कर्नाटक और केरल में मध्यम से भारी बारिश की उम्मीद है।मध्य महाराष्ट्र, दक्षिणी मध्य प्रदेश, दक्षिणी छत्तीसगढ़, दक्षिणी आंतरिक ओडिशा, आंतरिक कर्नाटक, रायलसीमा के कुछ हिस्सों और तमिलनाडु में कुछ स्थानों पर हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है।उत्तर पश्चिम भारत और पश्चिमी हिमालय के साथ-साथ पूर्वी तथा पूर्वोत्तर भारत के अधिकांश हिस्सों में मौसम शुष्क रहेगा।

Not possible for anyone to make Rahul understand India-China issue: BJP MP

Govt to give Rs 12,000 cr interest-free 50-year loan to states for capital projects

PM Modi pays tributes to Vijaya Raje Scindia, releases commemorative coin

Cong spokesperson Kushboo quits party, says she was 'suppressed'

Power supply in Mumbai, Thane will be restored in next one hour: Maharashtra minister

Rajnath inaugurates 44 bridges built by BRO in border areas

CBSE class 10 compartment exam results declared, over 56 pc students pass

Youth Congress holds candle light march demanding justice for Hathras victim

Pakistan, China creating border dispute as if it was under a mission: Rajnath on eastern Ladakh standoff

Hathras victim's family appears before high court

Delhi University starts its first fully online admission process

Kalyan Singh recovers from COVID, discharged from Ghaziabad hospital

Law being misused to curb free press and speech: Former SC judge B Lokur

Himachal Pradesh CM tests positive for COVID-19

Power ministry to send central team to study Mumbai outage