ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
टेस्टिंग में आत्‍मनिर्भर हुआ भारत.
July 5, 2020 • DESK • NATIONAL

दुनियाभर में कोरोनावायरस) संक्रमितों का आंकड़ा लगातार बढ़ता जा रहा है। पुरी दुनिया में 1.13 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोनावायरस सेसंक्रमित हो चुके हैं। वर्ल्डोमीटर के अनुसार दुनिया में 1 करोड़ 13 लाख 80 हजार से ज्यादा लोग इस वायरस से संक्रमित हैं जबकि मरने वालों की संख्या 5 लाख 33 हजार से अधिक हो गई है। दुनियाभर में कोरोनावायरस से स्वस्थ होने वालों का आंकड़ा 6,439,666 है

देश में कोरोना के मामलों में दिन प्रतिदिन रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी हो रही हैं लेकिन दूसरी तरफ हर रिकवरी दर में भी सुधार हो रहा है। भारत और चीन के बीच एलएसी पर चल रही तनातनी के बीच वायुसेना के विमान चीन के साथ लगने वाली सीमा के नजदीक उड़ान भर रहे हैं। वहीं एनसीआर में रविवार सुबह से हल्की बारिश हो रही है। दुनियाभर में कोरोना वायरस संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) ने इस घातक बीमारी से जंग को लेकर उठाए गए कदमों को लेकर भारत की प्रशंसा की है। साथ ही डब्‍ल्‍यूएचओ ने भारत को कोविड-19 से जुड़े डेटा मैनेजमेंट पर भी फोकस करने की सलाह भी दी। टेस्टिंग में आत्‍मनिर्भर हुआ भारत.

बीते महीने 21 जून को लगे सूर्य ग्रहण के बाद अब 5 जुलाई यानी रविवार को एक बार फिर साल 2020 का तीसरा चंद्र ग्रहण लग रहा है। ये एक महीने के अंदर ही लगने वाला तीसरा ग्रहण है। ये एक उपच्छाया ग्रहण होगा, जिसे अंग्रेजी में Penumbral Eclipse भी कहते हैं.

पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन तनाव के बीच शनिवार को भारतीय वायुसेना (IAF) के विमानों ने उड़ान भरी। इस दौरान वायुसेना के कमांडर्स ने कहा कि वे किस भी ऑपरेशन के लिए तैयार हैं और उनका जोश हमेशा की तरह चरम पर है। वायुसेना के Su-30MKI, MiG-29 विमानों ने भारत-चीन सीमा के नजदीक उड़ान भरी। IAF के अपाचे अटैक हेलीकॉप्‍टर भी भारत-चीन सीमा के नजदीक अग्रिम चौकियों के करीब उड़ान भरते देखे गए।

पंचांग 5 जुलाई 2020 के अनुसार इस दिन कई महत्वपूर्ण व्रत और पर्व हैं. आज गुरु पूर्णिमा, चन्द्र ग्रहण, व्यास पूजा, आषाढ़ पूर्णिमा, इष्टि और गौरी व्रत का समापन किया जाएगा, आज चंद्रमा धनु राशि में हैं. इस दिन रविवार को एन्द्र योग है.

उत्तर प्रदेश का अहम शहर कानपुर उस वक्त दहल गया जब वहां पुलिस की एक टीम पर बदमाशों ने अंधाधुंध फायरिंग कर दी जिसमें  एक सीओ, एक एसओ, दो एसआई तथा 4 जवान समेत 8 पुलिसकर्मी शहीद हो गए पुलिस को सूचना मिली थी हिस्ट्रीशीटर विकास दुबे गांव में छिपा है और विकास दुबे के इतिहास को देखते हुए करीब 40 पुलिसकर्मियों की टीम वहां पहुंची थी।

लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना से जारी तनाव के बीच देश में चीनी उत्पादों को लेकर जनता में भारी गुस्सा है और चीनी उत्पादों के बहिष्कार की खबरें सामने आ रही हैं, कहा जा रहा है कि भारत के इस कदम से चीनी सरकार की पेशानी पर बल पड़ें हैं,ये 1962 का भारत नहीं है ये मोदी सरकार है जो चीन पर अब चौतरफा वार कर रही है, इसी क्रम में पीएम मोदी ने युवाओं की हौसला आफजाई करते हुए उन्हें खास चैलैंज दिया है, ये भारत को आत्मनिर्भर बनाने की दिशा में अहम कदम माना जा रहा है।

 .रणनीतिक मामलों के विशेषज्ञों ने शनिवार को कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लद्दाख का दौरा करके बहुत स्पष्ट संदेश दिया है कि भारत पूर्वी लद्दाख में पीछे हटने वाला नहीं है और वह दृढ़ता से हालात से निपटेगा। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि आज विश्व असाधारण चुनौतियों से निपट रहा है, इन चुनौतियों का स्थायी समाधान भगवान बुद्ध के आदर्शों से मिल सकता है। उनके आदर्श हमेशा प्रासंगिक बने रहेंगे। पूर्वी लद्दाख में भारत-चीन तनाव के बीच शनिवार को भारतीय वायुसेना (IAF) के विमानों ने उड़ान भरी। इस दौरान वायुसेना के कमांडर्स ने कहा कि वे किस भी ऑपरेशन के लिए तैयार हैं और उनका जोश हमेशा की तरह चरम पर है। चीनी एप बैन करने के बाद  प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने शनिवार को युवाओं और स्ट्राट अप कंपनियों का स्वदेशी मोबाइल ऐप बनाने का आह्वान किया है लद्दाख की गलवान घाटी में चीनी सेना से जारी तनाव के बीच देश में चीनी उत्पादों को लेकर जनता में भारी गुस्सा है और चीनी उत्पादों के बहिष्कार की खबरें सामने आ रही हैं। चीन से भारत के टकराव के बीच पाकिस्‍तान पर भी चीन के प्रति अपनी नीतियों में बदलाव को लेकर दबाव बढ़ता जा रहा है। दरअसल, चीन आज अपनी विस्‍तारवादी नीतियों व कोरोना वायरस संक्रमण के कारण दुनियाभर में आलोचनाओं के केंद्र में है। कानपुर और आगरा में मेट्रो के लिए ट्रेनों के संबंध में टेंडर प्रक्रिया में चीनी फर्म को करारा झटका लगा है। तकनीकी मूल्यांकन में चीनी फर्म पर भारतीय फर्म भारी पड़ी।

ईरान से तनाव के बीच इजरायल द्वारा बड़ा कदम उठाए जाने की रिपोर्ट सामने आ रही है। बताया जा रहा है कि इजरायल ने अपने धुर प्रतिद्वंद्वी ईरान के परमाणु ठिकानों को बमबारी कर तबाह कर दिया है।

उत्तर प्रदेश के गाजियाबाद में एक शख्स और उसकी बेटी की हत्या कर दी गई। पुलिस ने एक रिश्तेदार को गिफ्तार किया है। वारदात की वजह एक कथित अफेयर है।

कानपुर एनकाउंटर मामले में मुख्य आरोपी विकास दुबे के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जा रही है। जिला प्रशासन ने उसके घर को ध्वस्त किया.​

मध्य प्रदेश बोर्ड ने अपनी दसवीं की परीक्षा के परिणाम घोषित कर दिए हैं। इस बार 15 छात्रों ने टॉप किया है। भिंड के अभिनव शर्मा, गुना के लक्ष्यद्वीप धाकड़ सहित कई नाम इस सूची मे शामिल हैं.​

राम मंदिर के निर्माण के संबंध में 18 जुलाई को अयोध्या में राम मंदिर न्यास की बैठक होगी। राम मंदिर न्यास अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के काम की देखरेख के लिए सुप्रीम कोर्ट के आदेश के तहत गठित किया गया है।

अगले 24 घंटों के दौरान उत्तरी कोंकण-गोवा और दक्षिणी गुजरात में मूसलाधार बारिश होने की संभावना है। दक्षिणी कोंकण गोवा, तटीय कर्नाटक और उत्तरी केरल में भी मध्यम से भारी वर्षा के आसार हैं। छत्तीसगढ़, दक्षिण और दक्षिण-पश्चिमी मध्य प्रदेश, पूर्वी उत्तर प्रदेश के कुछ हिस्सों, पूर्वोत्तर भारत, तटीय आंध्र प्रदेश, तेलंगाना में हल्की से मध्यम वर्षा के साथ कुछ स्थानों पर भारी वर्षा हो सकती है। बिहार में भी तेज़ बारिश हो सकती है।

आमतौर पर ऐसा कम ही देखने को मिलता है कि पुलिस विभाग में कांस्टेबल स्तर पर भर्ती होकर कोई पुलिस उपाधीक्षक के पद तक पहुंच जाए लेकिन कानपुर में विकास दुबे के साथ हुई मुठभेड़ का नेतृत्व करने वाले देवेंद्र मिश्र ने यह उपलब्धि हासिल की थी. उत्तर प्रदेश में बांदा ज़िले के मूल निवासी देवेंद्र मिश्र साल 1981 में कांस्टेबल के पद पर यूपी पुलिस में भर्ती हुए थे. विभागीय परीक्षा पास करके वो सब इंस्पेक्टर बने. साल 2005 में उन्नाव ज़िले में आसीवन थाने का इंचार्ज पद संभालते हुए उन्होंने एक शातिर बदमाश का एनकाउंटर किया था जिसकी वजह से उन्हें आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन का इनाम मिला था. इस पदोन्नति ने देवेंद्र मिश्र को इंस्पेक्टर पद तक पहुंचाया. इंस्पेक्टर पद पर रहते हुए उन्होंने साल 2012 में ट्रेन डकैती करने वाले बदमाशों को पकड़कर लूट का सामान भी बरामद किया था. देवेंद्र मिश्र को इस बहादुरी का इनाम मिला और तत्कालीनी पुलिस महानिदेशक ने उन्हें प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया. साल 2013 में वाराणसी में कैंट जीआरपी निरीक्षक के रूप में तैनाती के दौरान देवेंद्र मिश्र ने एक ज़हरख़ुरानी गिरोह को धर दबोचने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. देवेंद्र मिश्र के साथ काम कर चुके एक पुलिस अधिकारी नाम न छापने की शर्त पर बताते हैं कि अपनी तैनाती के दौरान कई बार अपराधियों के साथ मुठभेड़ में वो शामिल रहे और विभाग में उन्हें बहादुर और चालाक अफ़सर के रूप में जाना जाता था. पुलिस विभाग में महत्वपूर्ण भूमिका निभाने का एक और इनाम देवेंद्र मिश्र को साल 2016 में मिला जब वो दोबारा आउट ऑफ़ टर्न प्रमोशन पाकर पुलिस उपाधीक्षक बने. देवेंद्र मिश्र अभी बिल्हौर में क्षेत्राधिकारी के पद पर तैनात थे और अगले साल मार्च में रिटायर होने वाले थे. मौजूदा वक्त में बांदा ज़िले में तैनात इंस्पेक्टर ब्रजेश यादव देवेंद्र मिश्र के साथ काम कर चुके हैं. ब्रजेश यादव बताते हैं, "जीआरपी में इंस्पेक्टर रहने के दौरान देवेंद्र जी ने अपनी कार्यशैली से सभी का दिल जीता. वह न सिर्फ़ बहादुर अफ़सर थे बल्कि बेहद मिलनसार स्वभाव के भी थे और हर किसी का दिल जीत लेते थे." बांदा ज़िले के सहेवा गांव में देवेंद्र मिश्र के परिजन रहते हैं जबकि उनकी पत्नी और दो बेटियां कानपुर में ही उनके साथ रहते थे. गांव में देवेंद्र के छोटे भाई राजीव मिश्र और रामदीन मिश्र रहते हैं. देवेंद्र मिश्र के पिता अध्यापक थे. पुलिस अधिकारी हालांकि इस ऑपरेशन के बारे में आधिकारिक रूप से कुछ भी नहीं बताते हैं लेकिन यह ज़रूर कहते हैं कि विकास दुबे को पकड़ने के लिए जो टीम गई थी उसमें अनुभवी, विशेषज्ञ और युवा अधिकारियों को शामिल किया गया था. इसी वजह से देवेंद्र मिश्र को इस टीम का नेतृत्व सौंपा गया था. लेकिन इन सबके बावजूद यह ऑपरेशन इतना विफल कैसे हो गया, इस बारे में कोई भी अधिकारी कुछ भी बताने से कतरा रहा है.

कानपुर में देवेंद्र मिश्र ने लंबा समय गुज़ारा था और यहां के कई थानों के वो प्रभारी रह चुके थे. उनके पड़ोसी गांव जखिनी के रहने वाले उमाशंकर पांडेय बताते हैं, "देवेंद्र मिश्र सिपाही के तौर पर भले ही भर्ती हुए थे लेकिन पढ़ने में तेज़ थे और भर्ती के वक़्त वो ग्रेजुएट थे. उनके अध्यापक पिता ग़रीब ज़रूर थे लेकिन बच्चों को पढ़ाने-लिखाने में कोई कोताही नहीं की. यही वजह है कि सभी बेटे अच्छी जगहों पर नौकरी कर रहे हैं. साल 2016 में ग़ाज़ियाबाद में तैनाती के दौरान उनका प्रमोशन पुलिस उपाधीक्षक के पद पर हुआ था तो गांव के लोग भी बहुत खुश थे." प्रमोशन के बाद देवेंद्र मिश्र का तबादला कानपुर में हुआ और वो स्वरूप नगर के सीओ बनकर आए. कुछ समय पहले ही वो सीओ बिल्हौर बनकर गए थे. उत्तर प्रदेश में डीजीपी रहे रिटायर्ड आईपीएस अधिकारी वीएन राय कहते हैं, "कांस्टेबल से भर्ती होने वाले पदोन्नति पाकर अधिकतम इंस्पेक्टर तक पहुंच पाते हैं लेकिन डीएसपी की रैंक तक पहुंचना बड़ी उपलब्धि है. इससे पता चलता है कि उस व्यक्ति ने विभाग की कितनी अहम सेवा की है."

Encounter breaks out between security forces, militants in JK's Kulgam

V-P Naidu pays tributes to Vivekananda on death anniversary

West Bengal's unemployment rate at 6.5pc in June 'far better' than that of India: Mamata

Heavy rains to persist in Mumbai, coastal Maha on Satuday: IMD

Elderly woman dies of COVID-19 in Goa, fifth victim in state

Lord Buddha's ideals have lasting solutions to challenges world facing today: PM Modi

No one safe in UP's jungle raj, says Priyanka; Cong to launch e-campaign against crime

Minister says cops will look into Akshay's air trip to Nashik

Dubey's house razed under heavy police presence

Shoot him wherever he is, says criminal Vikas Dubey's mother

No passenger flights to Kolkata from Delhi, Mumbai, Chennai and 3 other cities between Jul 6-19

TMC worker killed, SUCI member found hanging as clashes break out in Bengal's Kultali

Strategic affairs experts hail Modi's visit to Ladakh; say his message to China 'clear'

No 'Kanwar Yatra' in Odisha this year due to COVID-19 pandemic