ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
पार्सल घर: रेलवे मंडल ने लिया बंद करने का फैसला
December 3, 2019 •  पलटन साहनी संवाददाता समस्तीपुर की रिपोर्ट • Economy

 

पार्सल घरों में आमदनी अठन्नी खर्चा रुपैया रेलवे मंडल ने लिया बंद करने का फैसला

समस्तीपुर रेल मंडल के दर्जनों पार्सल घरों पर जल्द ताले लटकने वाले हैं। रेल मंडल बेकार पड़े सभी पार्षद घरों को चिन्हित कर उन्हें बंद करने की कवायद में जुटा है। जानकारी के मुताबिक इन पार्सल घरों से विभाग को आमदनी अठन्नी है लेकिन खर्चा रुपैया है। आलम यह है कि इस रेल डिवीजन के दर्जनों पार्सल घरों में आजकल एक भी ग्राहक नहीं पहुंच रहा है। वही सामानों की आवाजाही का हाल यह है कि कई स्टेशनों पर बने पार्सल घरों में महीनों से ₹1 तक की बुकिंग नहीं हुई है। ऐसे में रेल प्रशासन ने इन्हें बंद करने का फैसला लिया है

समस्तीपुर रेल मंडल ने इस्तेमाल नहीं हो रहे सभी पार्षद घरों को चिन्हित कर उन्हें बंद करने का प्रस्ताव मुख्यालय को भेजा है। आंकड़ों के अनुसार इस डिवीजन के अंतर्गत आने वाले हसनपुर रोड , बैरगिनिया,  मानिकपुर, रूसेरा घाट, बनमंकी,  गम्हरिया, पूर्णिया कोर्ट ,बिहारीगंज, जनकपुर रोड, घोड़ासहन, चनपटिया और पिपराइच स्टेशन के पार्सल घरों में कामकाज ठप है। इनसे आमदनी कुछ नहीं है लेकिन महीनों में वेतन देने का खर्चा जरूर हो रहा।

समस्तीपुर रेल मंडल के सीनियर डीसीएम ने कहा कि कार्यकारी तौर पर यह पार्सल बुकिंग ऑफिस बंद  है। आगे भी अभी बंद रहने की संभावना है। जरूरत है अपने सिस्टम को सुधार करने की ना कि पार्सल घरों को बंद करने का।