ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
मिट्टी सरंक्षित होंगी तभी देश  सुरक्षित होगा
January 4, 2020 • पलटन साहनी संवाददाता समस्तीपुर की रिपोर्ट • Environment & Agriculture

समस्तीपुर जिला के ताजपुर प्रखंड अंर्तगत पॉयलट योजना के रूप में भारत सरकार, कृषि मंत्रालय के द्वारा हरिशंकरपुर बघौनी पंचायत के सबहा मॉडल ग्राम के रूप में मृदा स्वास्थ्य कार्ड योजना का चयन किया गया,

जिसके प्रत्येक होल्डिंग का मिट्टी नमूना संग्रहण का कार्ये एवम मृदा स्वास्थ्य कार्ड वितरण एवं उसके फलाफल की समीक्षा करने भारत सरकार के केंद्रीय टीम के सॉयल सर्वे ऑफिसर दिनेश पटेल ने किया, जिसमे पटेल के द्वारा लाभुक कृषकों से मिट्टी नमूना संग्रहण की जानकारी ली तथा मृदा स्वास्थ्य कार्ड मिलने पर किसान को क्या क्या फायदा मिला इसके बारे में बारीकी से जानकारी ली एवं बताया कि मृदा संरक्षण के लिए बस एक कदम बढ़ाना हम सब की नैतिक जिम्मेदारी है, जिसमें मिट्टी जांच महत्वपूर्ण है, जिससे मिट्टी प्रदूषण न हो, रासायनिकी उर्वरकों से छुटकारा मिले, उपज में वृद्धि हो, लागत कम लगे, श्रम की बचत हो इत्यादि की जानकारी दी।केंद्रीय टीम के साथ क्षेत्रीय उप निदेशक (रसायन) दरभंगा प्रमंडल दरभंगा विनय कुमार पाण्डेय ने भी किसानों को मिट्टी जांच के तकनीकी फायदे, अनुसंशित उर्वरकों का प्रयोग एवं जैविक खाद किसानों को खुद से बनाने की आवयश्क जानकारी दी जिससे कि आय में वृद्धि हो सके।
पंचायत के कृषि समन्वयक एवं नोडल पदाधिकारी पंकज कुमार ने केंद्रीय टीम के अधिकारी को बताया कि इस सबहा राजस्व ग्राम में कुल 206 होल्डिंग्स हैं जिसमे 206 किसानों के खेतों से ससमय मिट्टी नमूना का नमूना संग्रह कर मिट्टी जांच प्रयोगशाला, समस्तीपुर को उपलब्ध करा दिया गया है,एवं मिट्टी जांच कर मृदा स्वास्थ्य कार्ड भी उपलब्ध कराया जा रहा है, कृषि समन्वयक कुमार ने बताया की मृदा स्वास्थ्य कार्ड के आधार पर कुल 6 प्रत्यक्षण भी विभाग के द्वारा किसानों को उपलब्ध कराया जाएगा जिसमे मृदा स्वास्थ्य सुधारक, सूक्ष्म पोषक तत्व, जैव उर्वरक इत्यादि उपादान सहायता अनुदान पर दिया जाना है।
      मृदा स्वास्थ्य कार्ड के लाभुक कृषको में सियाराम सिंह, सुनील कुमार सिंह,चंदेश्वर सिंह, रामचंद्र सिंह, बैधनाथ राय, नीरज कुमार के मिट्टी जांच वाले खेतों में केंद्रीय टीम के अधिकारी दिनेश पटेल ने निरीक्षण किया तत्पशचात उपस्थित किसानों से इसके बारे में इंटरव्यू भी लिया। मौके पर सहायक अनुसंधान पदाधिकारी राम आधार राय कृषि समन्वयक अमरेंद्र प्रसाद राय, सुजीत कुमार वर्मा, सुरेश प्रसाद सिंह, कृष्ण कुमार, अनिल कुमार, हरिदर्शन चौधरी, नृपेंद्र कुमार उपस्थित थे।               किसान पंकज सिंह, सुरेंद्र सिंह, टूना सिंह, मदन सिंह, रोहित कुमार, ओम प्रकाश, विष्णुदेव पासवान, कृष्णा देवी एवं अन्य किसानों ने केंद्रीय टीम को बताया कि कृषि विभाग से निःशुल्क मिट्टी की जांच कर समय से पहले मृदा स्वास्थ्य कार्ड कृषि विभाग के पदाधिकारियों के द्वारा शिविर लगा कर हमलोगों को उपलब्ध कराया गया, जिससे कृषको में हर्ष व्याप्त है , किसान रामेशवर सिंह ने कहा कि जब हमारी मिट्टी संरक्षित होगी तभी देश रासायनिक जहर से सुरक्षित होगा।मिट्टी जांच से पहले पहले हमलोग खेत मे अंधाधूंद रासायनिक उर्वरकों का प्रयोग करते रहे हैं लेकिन अब मृदा स्वास्थ्य कार्ड अपने हाथ मे है तो हमलोग अनावश्यक रासायनिक उर्वरकों का प्रयोग करने से बच रहे है साथ ही धरती माँ को जीवित रखने का प्रयास कर रहे है।