ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
कोरोना वायरस टेस्ट कराने से इनकार करने वालों को हो सकती है जेल
March 17, 2020 • Desk • NATIONAL

कोरोना वायरस के खतरे से निपटने के लिए केंद्र और राज्य सरकारें मिलजुल कर काम कर रही हैं। हालांकि कोरोना संक्रमित मामलों में एक एक कर इजाफा हो रहा है। ऐहतियात के तौर पर देशभर के सभी जिम और सार्वजनिकि सुविधाओं वाली जगहों को 31 मार्च तक बंद करने का फैसला किया गया है। 

भारत के कई राज्यों मे कोरोना वायरस फैल गया है। उत्तर प्रदेश सरकार से इससे निपटने के लिए कई एहतियाती कदम उठाए हैं। कोरोना वायरस को लेकर एक्शन में योगी सरकार, 'टेस्ट कराने से इनकार करने वालों को हो सकती है जेल'​

कोरोना वायरस ने भारत समेत पूरी दुनिया में दहशत फैला दी है। अभी तक 6000 से ज्यादा लोगों की जान इसकी वजह से चली गई है।  भारत में अभी तक सामने आए 114 मामले, सबसे ज्यादा महाराष्ट्र में​

क्या आज मध्य प्रदेश में फ्लोर टेस्ट होगा। राज्यपाल लालजी टंडन ने एक बार फिर सीएम कमलनाथ से कहा है कि वो मंगलवार को अपनी सरकार का बहुमत साबित करें।

बिहार में इसी साल होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन के बीच सब कुछ ठीक नहीं लग रहा है। सहयोगी पार्टियों ने आरजेडी पर निशाना साधा है।


कोरोना वायरस के लगातार फैलते संक्रमण का असर देश के प्रसिद्ध मंदिरों पर देखने को मिल रहा है। श्रद्धालुओं के आवागमन पर प्रतिबंध लगा दिए गए हैं। कोरोना का असर मंदिरों पर: महाकाल की भस्म आरती में जाने पर प्रतिबंध, सिद्धिविनायक- तुलजा भवानी लोगों के लिए बंद.

बिहार में इसी साल के अंत में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले महागठबंधन में सब कुछ ठीक नजर नहीं आ रहा है। महागठबंधन में शामिल दलों के बीच अब बगावत के सुर सुनाई दे रहे हैं जिसकी एक सोमवार को दिखाई दी जब हिंदुस्तानी आवाम मोर्चा (हम) के नेता और राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने सहयोगी लालू प्रसाद यादव की राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) को दो टूक कह दिया कि वो (आरजेडी) बड़े भाई की भूमिका में तो है लेकिन अपने कर्तव्य नहीं निभा पा रही है। इतना ही नहीं मांझी ने यहां तक कह दिया कि यदि इस महीने के अंत तक उनकी बात नहीं मानी जाती है तो महागठबंधन में शामिल बांकि दल भी अपना अलग रास्ता अख्तियार कर सकते हैं। दरअसल सोमवार को महागठबंधन में शामिल दलों की एक बैठक हुई जिसमें वीआईपी पार्टी के मुकेश साहनी, रालोसपा के उपेंद्र कुशवाहा तथा अन्य दल शामिल हुए।

इस दौरान मांझी ने कहा कि विधानसभा चुनाव के लिए सबसे पहले और जल्द एक समन्व्यय समीति का गठन हो। इस दौरान उन्होंने आरजेडी की तरफ इशारा करते हुए कहा कि सिर्फ एक दल की वजह से ऐसा नहीं हो पा रहा है। वहीं मुकेश साहनी ने भी कहा कि अब छोटे दल ज्यादा इंतजार नहीं कर सकते हैं। मांझी ने आरजेडी पर एक तरह से हमला करते हुए कहा कि उसने कांग्रेस को राज्यसभा सीट देने का वादा किया था लेकिन ऐन वक्त पर मुकर गई और व्यवसायी को टिकट दे दिया गाय। मांझी ने इस दौरान आरजेडी को अपने रवैये मे सुधार लाने की भी नसीहत दे डाली। वहीं रालोसपा मुखिया औऱ पूर्व केंद्रीय मंत्री उपेंद्र कुशवाहा ने कहा कि महागठबंधन में सबकुछ ठीक है और मीडिया ही माहौल को खराब करने की कोशिश में जुटा हुआ है।

आपको बता दें कि राष्ट्रीय जनता दल (राजद) ने  बिहार से दो राज्यसभा सीटों के लिए अपने उम्मीदवारों मैदान में उतार दिए हैं। राजद ने कांग्रेस की उस मांग को नजरअंदाज कर दिया, जिसमें उसने एक सीट पर अपना उम्मीदवार खड़ा करने की इच्छा जताई थी। हाल ही में कांग्रेस के बिहार प्रभारी शक्तिसिंह गोहिल ने खुला पत्र लिखकर तेजस्वी यादव को राज्यसभा की एक सीट देने के वादे की याद दिलाई थी। राजद के इस कदम से कांग्रेस जहां हैरान हुई वहीं सहयोगी दलों ने इसके लिए राजद की आलोचना भी की।

मंदिर के संचालन और श्रद्धालुओं के दर्शन के लिए कोरोना वायरस बना संकट तमाम बड़े मंदिरों पर लगाए जा रहे प्रतिबंध, नहीं जा सकेंगे लोग 31 मार्च पर नहीं देख पाएंगे महाकाल की भस्म आरती, सिद्धिविनायक और तुलजा भवानी में भी प्रतिबंध . कोरोना वायरस के प्रकोप और सरकार के निर्देशों को ध्यान में रखते हुए देश के प्रमुख मंदिरों पर लोगों के आने पर पाबंदी लग रही है। उज्जैन के प्रसिद्ध महाकाल मंदिर के गर्भगृह में प्रवेश पर प्रतिबंध लगा दिया गया है, जो महाकाल की भस्म आरती के दौरान भी लागू होगा। उज्जैन का प्रसिद्ध  भगवान शिव का महाकालेश्वर मंदिर देश के बारह ज्योर्तिलिगों में से एक है। श्री महाकालेश्वर मंदिर प्रबंध समिति के प्रशासक और अपर कलेक्टर एसएस रावत ने मन्दिर के सभी पुजारियों, पुरोहितों व उनके प्रतिनिधियों के साथ विस्तार से चर्चा के करने बाद कोरोना वायरस के संक्रमण की रोकथाम के लिए अगले आदेश तक आम श्रद्धालुओं के प्रवेश पर प्रतितबंध लगा दिया है।

दर्शनार्थियों को सुबह 6 बजे ही भगवान महाकाल के दर्शन मिल सकेंगे। मन्दिर परिसर में बांधे जाने वाले रक्षा सूत्र, कलावा, धागे, डोरे जैसी चीजों को भी पूरी तरह प्रतिबंधित कर दिया गया है। मंदिर परिसर के पूजन, अनुष्ठानों में ज्यादा से ज्यादा 20 सदस्यों की संख्या निर्धारित की गई है। मंदिर में काम करने वाले सफाईकर्मी निरन्तर रेलिंग जैसी उन जगहों को कीटाणुनाशक से साफ करेंगे, जहां श्रद्धालु अपने हाथ इत्यादि स्पर्श करते हैं। मंदिर के समस्त प्रवेश द्वार पर तैनात सुरक्षाकर्मी श्रद्धालुओं को प्रवेश के दौरान सेनिटाइजर से हाथ धुलवाकर मंदिर में दर्शन के लिए जाने देंगे। साथ ही लोगों की थर्मामीटर से चेकिंग की जाएगी।

महाकाल के अलावा अन्य मंदिरों पर भी कोरोना का असर दिख रहा है। महाराष्ट्र में कोरोना वायरस फैलने के मद्देनजर मुंबई के प्रसिद्ध सिद्धिविनायक मंदिर को अगली सूचना तक श्रद्धालुओं के लिए बंद कर दिया गया है। एक अधिकारी ने कहा कि राज्य के उस्मानाबाद जिले में मौजूद तुलजा भवानी मंदिर को भी श्रद्धालुओं के लिए 17 से 31 मार्च तक बंद कर दिया गया है।

रांची डीजीपी कमल नयन चौबे का हुआ ट्रांसफररांची डीजीपी कमल नयन चौबे का हुआ ट्रांसफर. विशेष कार्य पदाधिकारी पुलिस आधुनिकरण कैम्प नई दिल्ली हुआ ट्रांसफर. एम वी राव को डीजीपी का मिला प्रभार.


मध्य प्रदेश में सियासी संकट जारी है. यह कहां तक चलेगा और कहां पर रुकेगा, कहना मुश्किल है. लेकिन कमलनाथ सरकार मुश्किल में दिख रही है. 16 मार्च यानी आज फ्लोर टेस्ट होना था, लेकिन नहीं हुआ. इसको लेकर राज्यपाल लालजी टंडन (Lalji Tandon) ने कमलनाथ सरकार (Kamalnath) को अल्टीमेटम दिया है. उन्होंने पत्र जारी करते हुए कहा कि 17 मार्च को बहुमत साबित करो. अन्य़था आपको अल्पमत माना जाएगा. अपने पहले निर्देश का पालन नहीं किये जाने पर मध्यप्रदेश के राज्यपाल लालजी टंडन ने मुख्यमंत्री कमलनाथ पर खासे नाराजगी जाहिर की है. उन्होंने फिर से एक पत्र लिखकर मंगलवार यानी 17 मार्च तक सदन में शक्ति परीक्षण करवाने एवं बहुमत सिद्ध करने के निर्देश दिए हैं. राज्यपाल ने मुख्यमंत्री से कहा कि यदि आप ऐसा नहीं करेंगे तो यह माना जाएगा कि वास्तव में आपको विधानसभा में बहुमत प्राप्त नहीं है. टंडन ने सोमवार को कमलनाथ को लिखे अपने पत्र में कहा कि मेरे पत्र दिनांक 14 मार्च 2020 का उत्तर आपसे प्राप्त हुआ है. धन्यवाद, मुझे खेद है कि पत्र का भाव/भाषा संसदीय मर्यादाओं के अनुकूल नहीं है. राज्यपाल ने आगे लिखा कि मैंने अपने 14 मार्च 2020 के पत्र में आपसे विधानसभा में 16 मार्च को विश्वास मत प्राप्त करने के लिए निवेदन किया था. आज विधानसभा का सत्र प्रारंभ हुआ. मैंने अपना अभिभाषण पढ़ा, परन्तु आपके द्वारा सदन का विश्वास मत प्राप्त करने की कार्यवाही प्रारंभ नहीं की गई और इस संबंध में कोई सार्थक प्रयास भी नहीं किया गया और सदन की कार्यवाही दिनांक 26 मार्च 2020 तक स्थगित हो गई. 

राज्यपाल ने कहा कि आपने अपने पत्र में सर्वोच्च न्यायालय के जिस निर्णय का जिक्र किया है वह वर्तमान परिस्थितियों और तथ्यों में लागू नहीं होता है. जब यह प्रश्न उठे कि किसी सरकार को सदन का विश्वास प्राप्त है या नहीं, तब ऐसी स्थिति में सर्वोच्च न्यायालय द्वारा अपने कई निर्णयों में निर्विवादि रुप से स्थापित किया गया है कि इस प्रश्न का उत्तर अंतिम रुप से सदन में शक्ति परीक्षण के माध्यम से ही हो सकता है. उन्होंने लिखा कि यह खेद की बात है कि आपने मेरे द्वारा दी गई समयावधि में अपना बहुमत सिद्ध करने के बजाय, यह पत्र लिखकर विश्वास मत प्राप्त करने एवं विधानसभा में शक्ति परीक्षण कराने में अपनी असमर्थता व्यक्त की है. आना-कानी की है, जिसका कोई भी औचित्य एवं आधार नहीं है. आपने अपने पत्र में शक्ति परीक्षण नहीं कराने के जो कारण दिये है, वे आधारहीन एवं अर्थहीन हैं. टंडन ने अंत में पत्र में लिखा है कि अत: मेरा आपसे पुन: निवेदन है कि आप संवैधानिक एवं लोकतंत्रीय मान्यताओं का सम्मान करते हुए कल 17 मार्च 2020 तक मध्यप्रदेश विधानसभा में शक्ति करवाएं तथा अपना बहुमत सिद्ध करें, अन्यथा यह माना जाएगा कि वास्तव में आपको विधानसभा में बहुमत प्राप्त नहीं है.


Yes Bank co-founder Kapoor's ED remand extended till March 20

Count of coronavirus patients in India rises to 114, Odisha reports its first case

WB to have Rs 200 cr fund to tackle coronavirus, closure of schools extended till Apr 15

No plan to lock down any city: Maha CM on coronavirus scare

More COVID-19 cases, deaths reported in the rest of world than in China: WHO

Govt nominates ex-CJI Gogoi to Rajya Sabha

Yes Bank: ED summons top corporate honchos for questioning this week

Three more fresh cases in Kerala, number goes up to 24

Centre moves SC for approval of formula to provide breather to telcos in payment of AGR dues

Govt prohibits entry of passengers from EU, Turkey, UK from Mar 18

Foreigners can't visit Delhi gurdwaras without completing 15-day stay in India: DSGMC

RBI hints at rate cut in April 3 policy meet, announces more liquidity measures

Nirbhaya convicts move ICJ for stay on execution

Covid-19:Siddhivinayak, Tuljabhavani temples shut for devotees

Face floor test on Tuesday: MP governor to Kamal Nath