ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
इस वायस के संक्रमण के कारण सुस्‍त हुई वैश्विक अर्थव्‍यवस्‍था
March 27, 2020 • लखनऊ ब्यूरो • International

कोरोना संक्रमण के मामले देश में लगातार बढ़ रहे हैं। इस संक्रमण को फैलने के लिए सरकार तमाम एहतियाती कदम उठा रही है। वहीं विश्व की बात करें तो दुनिया के 175 से अधिक देशों में कोरोना के अब तक पांच लाख से ज्यादा मामले आ चुके हैं। वहीं लॉकडाउन फंसे लोगों के लिए राज्य सरकारें ऐक्टिव हो गई हैं। 

ऐसे में जबकि पूरी दुनिया कोरोना वायरस के संकट से जूझ रही है, जी-20 के देशों ने इस वैश्विक महामारी से उपजे हालात का मुकाबला मिलकर करने का फैसला लिया है। जी-20 के देशों ने इस वायस के संक्रमण के कारण सुस्‍त हुई वैश्विक अर्थव्‍यवस्‍था को रफ्तार देने के लिए बड़े बेलआउट पैकेज का भी ऐलान किया है। जी-20 देशों के नेताओं के वर्चुअल सम्‍मेलन के बाद जारी बयान में कहा गया है कि इस वैश्विक संगठन के देश वैश्विक अर्थव्यवस्था में पांच हजार अरब डॉलर का योगदान देंगे।

कोरोना संकट पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की जनता को भरोसा दिलाया है कि किसी भी प्रकार की दिक्कत नहीं आने दी जाएगी, प्रदेश सरकार इससे निपटने के लिए व्यापक तैयारियां कर रहा है। उन्होंने जनता से अपील की कि कोरोना से निपटने के लिए उन्हें लॉकडाउन का पूरी तरह से पालन करना है। कोरोना वायरस पूरी दुनिया में कहर बनकर टूट पड़ा है, जिसके कारण 23 हजार से अधिक लोगों की जान चली गई है, जबकि 5 लाख से अधिक लोग इससे संक्रमित हैं। अभी दुनिया इस बीमारी का उपचार तक नहीं ढूंढ पाई है कि इससे पहले ही अमेरिका के एक शीर्ष वैज्ञानिक ने चेताया है कि यह संक्रमण सीजनल हो सकता है और अगले सीजन में फिर लौट सकता है।

जामिया मिलिया इस्लामिया विश्‍वविद्यालय ने उस असिस्‍टेंट प्रोफेसर को निलंबित कर दिया है, जिन्‍होंने एक दिन पहले ही यह ट्वीट कर विवाद पैदा कर दिया था कि उन्‍होंने सीएए के खिलाफ प्रदर्शन में हिस्‍सा नहीं लेने वाले 15 गैर-मुस्लिम छात्रों को परीक्षा में फेल कर दिया। प्रोफेसर के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर खूब हंगामा हुआ था, जिसके बाद उन्‍होंने अपना ट्वीट डिलीट भी कर दिया। विश्‍वविद्यालय प्रशासन ने गुरुवार को इस मामले की जांच के आदेश दिए और प्रोफेसर को जांच पूरी होने तक निलंबित कर दिया। हालांकि प्रोफसर ने अब अपनी सफाई में कहा है कि उन्‍होंने वह ट्वीट व्‍यंग्‍यात्‍मक लहजे में किया था, जिसे गलत समझा गया।

अखिलेश यादव ने कहा कि आज प्रदेश की सड़कों पर जिस प्रकार लाखों लोग भूखे-प्यासे हैं और आपूर्ति के अभाव में जानता त्रस्त है, ऐसे में मुख्यमंत्री जी सपा सरकार के समय भोजन के लिए वितरित किए गये ‘समाजवादी राहत पैकेट’ को बाँटने का निर्देश ज़िलाधिकारियों को जारी करें जिनके नियम भी बने हैं. चाहें तो नाम बदल दें.

लखनऊ के थाना विस्तार के खरगापुर पुलिस की अच्छी पहल. लखनऊ थाना गोमतीनगर विस्तार के कौशलपुरी चौकी प्रभारी रमेश पटेल तरुन ने कालाबाजारी को देखते हुए सब्जी की दुकानों पर लगवा दी. रेट लिस्ट चौकी प्रभारी का कहना कि निरन्तर शिकायतों के बाद की इस पहल की शुरुआत. आम जनमानस ने की सराहनीय कार्य की तारीफ़

यदि आपके क्षेत्र में किसी व्यक्ति को कोरोना बीमारी के लक्षण जैसे- सूखी खांसी, बुखार एवं सांस लेने में तकलीफ हो तथा किसी देश/अन्य प्रदेश की यात्रा से लौटा हो, तो कृपया सीएम हेल्पलाइन नम्बर 1076 पर तत्काल सम्पर्क करें. 60 हज़ार ग्राम पंचायतों को ये मैसेज और फ़ोन जा रहा है.

देशवासियों की चिंता करते हुए बसपा सुप्रीमो मायावती ने ट्वीट कर कहा कि देश की 135 करोड़ गरीब और मेहनतकश जनता पर 21 दिनों के लॉकडाउन वाली पाबन्दियों को कड़ाई से लागू करने के बाद खासकर लोगों का पेट भरने अर्थात उनकी रोटी-रोजी की समस्या को दूर करने के लिए केन्द्र व राज्य सरकारों द्वारा राहत पैकेज की व्यवस्था बहुत ही जरूरी है. इसपर सरकार को तुरंत ध्यान दें.

 

कोरोना को बेदम करने के लिए लागू 'लॉकडाउन' के 21 दिन की अवधि ज्यों-ज्यों आगे की ओर खिसक रही है, इलाकाई गली-मुहल्लों में मौजूद दुकानदार लूट-खसोट पर उतर आए हैं. इसी कालाबाजारी को रोकने के लिए स्थानीय जिलाधिकारी द्वारा बनाई गयी टीमों ने बुधवार को पूरे दिन गाजियाबाद, मोदी नगर, मुराद नगर इलाकों में छापामारी की. कालाबाजारी पकड़ने को लेकर की गयी छापामारी के दौरान छोटे-छोटे कई दुकानदारों को चेतावनी देकर छोड़ दिया गया. जबकि इंदिरापुरम में एक आटा चक्की वाले के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की गयी. इसी तरह एक मेडिकल को सील कर दिया गया. वहीं दिल्ली से सटे नोएडा, ग्रेटर नोएडा में भी लॉकडाउन उल्लंघन करने की खबरें बुधवार को दिन भर आती रहीं. इन इलाकों में सैकड़ों लोगों के खिलाफ कठोर कानूनी कार्यवाही की गयी.

दुनिया को डराने वाले कोरोना वायरस का खौफ सिर्फ आम लोगों को नहीं है बल्कि अपराधी भी इससे खौफजदा हैं. बीते तीन दिनों में उत्तर प्रदेश में लूट, चोरी, डकैती और स्नैचिंग की एक भी वरदात नहीं हुई है. ऐसा दावा प्रदेश की पुलिस ने किया है. आईजी (कानून व्यवस्था) ज्योति नारायण ने बताया कि जनता कर्फ्यू के दिन यानि 22 मार्च से लेकर 24 मार्च के बीच प्रदेश में लूट, डकैती, अपहरण जैसी कोई घटना देखने को नहीं मिली है. उन्होंने बताया कि पहले लूट, डकैती, चोरी की 3 से 5 घटनाएं रोज होती है. वहीं 22, 23 और 24 मार्च को एक भी घटना पूरे प्रदेश में देखने को नहीं मिली.

गोमतीनगर सब्जी मंडी में सोशल डिस्टेंटिंग का पालन कर रहे लोग. अपने-अपने खाने का प्रयोग कर रहे हैं लोग. कोरोना के खिलाफ जारी है लोगों का जंग. Covid 19 को हराने के लिए लोगों ने कमर कस ली है.


Hundreds of people stranded at AP-Telangana checkpoints

COVID-19: Sonia writes to PM, voices support to lockdown

SpiceJet's special flight to take 142 Iran-returned Indians to quarantine facility in Jodhpur

PM pitches for new crisis management protocol at G-20 video conference  on coronavirus

Financial package will go a long way in ensuring food, livelihood security of poor: PM

Govt to provide 5 kg grains, 1 kg pulses for free over next 3 months: FM

First step in right direction: Rahul on Centre's financial package

Delhi Metro services closure period extended till Apr 14: DMRC

Coronavirus lockdown: Shops selling essentials will remain open round the clock, says Delhi LG