ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
अस्थाई आश्रम स्थल जगह जगह पर खुलवाये
January 3, 2020 •  पलटन साहनी संवाददाता समस्तीपुर की रिपोर्ट • NATIONAL

समस्तीपुर जिला के रोसड़ा वार्ड नंबर 17 में अस्थाई आश्रम सिर्फ कागज के पन्नों पर चल रही है इसकी जानकारी आम लोगों तक नहीं पहुंची है

 

बिहार सरकार एवं समस्तीपुर जिला पदाधिकारी के आदेशानुसार अस्थाई आश्रम स्थल जगह जगह पर खुलवाया गया।
नि :शुल्क अस्थाई आश्रम    के द्वारा लोगों को ठंड में विश्राम करने के लिए व्यवस्था की गई। बिहार सरकार बिहार में सभी जिले मैं ऐसी सुविधा मुहैया कराने के लिए आदेश जारी किए थे जिसको देखते हुए ।

समस्तीपुर जिला में भी समस्तीपुर जिला पदाधिकारी जगह-जगह पर ठंड से बचाव के लिए अस्थाई आश्रम का व्यवस्था  किए बता दे कि समस्तीपुर जिला के रोसड़ा नगर पंचायत मैं अस्थाई आश्रम का व्यवस्था किया गया लेकिन उससे पहले रोसड़ा नगर पंचायत कार्यपालक पदाधिकारी प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मीपुर के प्रधानाध्यापक को कार्यालय के पत्राक 1645 दिनांक 25 नवंबर 2019 को जारी कर अनापत्ति प्रमाण पत्र मांगे बता दें कि सरकार एवं जिला अधिकारी के आदेश अनुसार  सुरक्षा प्रदान करने के वास्ते और अथाई आश्रम स्थल का निर्माण करना है जिसका उद्घाटन जिला पदाधिकारी के द्वारा ही की जानी है विद्यालय स्थित उत्तर भाग से दो कमरों को चिन्हित किया गया उसका साफ सफाई कराते हुए अस्थाई स्थल अनापत्ति प्रमाण पत्र की निर्गत करने का अनुरोध कार्यालय कार्यपालक ने विद्यालय के प्रधानाध्यापक से किया है।
प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मीपुर के प्रधानाध्यापक राजेंद्र पासवान ने बताया कि नगर पंचायत से पत्र मिला है पत्र के अनुसार विद्यालय का जो कमरा अस्थाई आश्रम स्थल के लिए दिए हैं लेकिन जब भी मैं विद्यालय आता हूं तो आश्रम के लिए जो दो कमरा दी है दोनों में ताला लटका हुआ रहता है।
 ग्रामीण से पता चला कि रोसड़ा वार्ड नंबर 16 स्थित प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मीपुर में अस्थाई आश्रम का बोर्ड मे ताला लगा हुआ है लेकिन इसकी प्रचार-प्रसार नहीं की गई है जिससे लोग ठंड में आकर आराम करते लोगों की इसकी जानकारी भीसार्वजनिक रूप से नहीं दी गई है सिर्फ विद्यालय में एक बैनर लटकी हुई है और एक विद्यालय के गेट पर लगा हुआ है।
वहीं पर नगर पंचायत के  कार्यालय में कार्यरत अकाउंटेंट संजीत कुमार ने बताया कि इसकी देखरेख सहेली खातून को दी गई है जिसका चाभी सहेली खातून के पास है  सहेली खातून का काम है अस्थाई आश्रम को खोल कर रखना और लोगों को निशुल्क सहारा दे  इसके लिए 150 प्रतिदिन के हिसाब से दिया जा रहा है।
बताते चलें कि नगर पंचायत कार्यालय में कार्यरत कर्मी संजीत कुमार ने बताया कि ठंड को देखते हुए व्यवस्था की गई है और अस्थाई आश्रम की उद्घाटन जिला पदाधिकारी के द्वारा ही की जानी थी ।
 बता दें कि जिला पदाधिकारी द्वारा अस्थाई आश्रम का उद्घाटन नहीं हुई है ना ही लोगों की इसकी जानकारी मिली है जो लोग जाकर ठंड में इसका लाभ उठा सके अस्थाई आश्रम आज हाथी का सफेद दांत की तरह देखने को मिल रहा है लेकिन लोगों को इस अस्थाई आश्रम का लाभ नहीं मिल रहा है।
वहीं पर रोसड़ा नगर पंचायत के वार्ड नंबर 17 के नगर पार्षद अरुण कुमार ने बताया कि वार्ड नंबर 17 स्थित प्राथमिक विद्यालय लक्ष्मीपुर में कब अस्थाई आश्रम खुली है इसकी जानकारी हम लोगों को नहीं दी गई है जानकारी से वंचित किया गया है और ना ही आम जनों को इसकी जानकारी दी गई है जो कराटे की ठंड में लोग आकर अपनी रात यहां गुजार सकें अरुण कुमार ने यह भी बताया कि आज ही मुझे पता चला तो मैं इस जगह पर पहुंचकर इसकी जानकारी ली तो देखा ताला लटका हुआ है तो मैं रोसड़ा कार्यपालक पदाधिकारी से जानकारी ली तो उन्होंने अनुमन्य ढंग से जानकारी दी है। मुख्य पार्षद श्याम बाबू सिंह  ने बताया कि नगर पंचायत के कार्यपालक पदाधिकारी मनमानी करते हैं इस संदर्भ में नगर पंचायत के बोर्ड को जानकारी होना चाहिए लेकिन कहीं बिना प्रचार के अस्थाई आश्रय कागज के पन्नों पर चालू कर दिया है उन्होंने इस संदर्भ में जांच कराते हुए कार्यवाही की मांग की है