ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
अनलॉक: आर्थिक फोकस: सख्त परिधि नियंत्रण
May 31, 2020 • desk • NATIONAL

कंटेनमेंट जोन को छोड़ सभी चीजों को खोलने की इजाजत. केन्द्र सरकार ने कोरोना लॉकडाउन पर लोगों को बड़ी राहत दी है। शनिवार को गृह मंत्रालय की तरफ से अगले एक महीने यानी 30 जून तक नई गाइडलाइन्स जारी की है। इसमें कंटेनमेंट जोन (निषिद्ध क्षेत्र) के बाहर सभी तरह की गतिविधियों को शुरू करने की इजाजत दी गई है, जबकि कंटेनमेंट जोन में 30 जून तक लॉकडाउन को बढ़ा दिया गया है। वहीं, अब एक राज्य से दूसरे राज्य में जाने के लिए पास की इजाजत नहीं होगी। मौजूदा चरण ‘अनलॉक 1’ में आर्थिक फोकस होगा। नए दिशा-निर्देश राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों के साथ व्यापक सलाह-मशविरा के आधार पर जारी किए गए हैं। कंटेनमेंट जोन में लॉकडाउन उपाय सख्ती से लागू रहेंगे। पीआईबी के मुताबिक, स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा जारी दिशा-निर्देशों को ध्यान में रखते हुए, राज्य/ संघ शासित प्रदेश सरकारों द्वारा इनका सीमांकन किया जाएगा। कंटेनमेंटज़ोन के भीतर, सख्त परिधि नियंत्रण बनाकर रखा जाएगा और केवल आवश्यक गतिविधियों की अनुमति दी जाएगी। पहले से प्रतिबंधित सभी गतिविधियों को कंटेनमेंटजोन के बाहर चरणबद्ध तरीके से खोला जाएगा, जो कि मानक संचालन प्रक्रियाओं (एसओपी) के पालन के करार के साथ, स्वास्थ्य मंत्रालय द्वारा निर्धारित की जाएंगी: 

8 जून 2020 से सभी धार्मिक स्थल खुल जाएंगे। होटल, रेस्त्रां और दूसरे हॉस्पिटैलिटी सर्विसेज की शुरुआत हो जाएगी। शॉपिंग मॉल्स भी खुल जाएंगे। इनके लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की ओर से एसओपी जारी की जाएगी। स्कूल, कॉलेज, एजुकेशनल, ट्रेनिंग, कोचिंग इंस्टिट्यूट आदि को खोलने का फैसला जुलाई 2020 में लिया जाएगा। इसके लिए सभी राज्य सरकारों, केंद्र शासित प्रदेशों, संस्थाओं, अभिभावकों और सभी हितधारकों के साथ विचार विमर्श किया जाएगा। अंतरराष्ट्रीय उड़ानें, मेट्रो रेल, सिनेमा हॉल्स, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, बार और ऑडोटोरियम को फेज 3 में खोना जाएगा। हालांकि, इससे पहले एक बार स्थिति की समीक्षा की जाएगी। तीसरे चरण में ही सामाजिक, राजनीतिक, खेल, मनोरंजन, सांस्कृतिक गतिविधियों को खोलने का फैसला लिया जाएगा। देश में नाइट कर्फ्यू अभी भी जारी रहेगा। हालांकि इसके लिए समय में बदलाव किया गया है। अंतर-राज्यीय और राज्य के भीतर व्यक्तियों और सामान की आवाजाही पर कोई बंदिश नहीं होगी। ऐसी आवाजाही के लिए अलग से किसी प्रकार की अनुमति/स्वीकृति/ई-परमिट नहीं लेना होगा। हालांकि, यदि एक राज्य/संघ शासित क्षेत्र सार्वजनिक स्वास्थ्य से जुड़ी वजहों और परिस्थितियों के आकलन के आधार पर, लोगों की आवाजाही को नियंत्रित करने का प्रस्ताव करता है तो उसे ऐसी आवाजाही पर बंदिशों को लागू करने और उससे जुड़ी प्रक्रियाओं के पालन के संबंध में अग्रिम रूप से व्यापक प्रचार करना होगा। कंटेनमेंट जोन के बाहर होने वाली गतिविधियों पर राज्य करेंगे फैसला.

देश में कोरोना वायरस के नए मामलों और मौतों में रिकार्ड बढ़ोतरी हुई है। देश में मृतकों की संख्या 5,164 से ज्यादा और संक्रमित लोगों का आंकड़ा 182143 लाख को पार कर गया है। इस बीच सरकार ने कहा है कि दो महीने से अधिक समय से लागू लॉकडाउन को एक जून से चरणबद्ध तरीके से हटाने की प्रक्रिया शुरू होगी। केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा है कि कोविड-19 के साथ जीते हुए सभी एहतियात का पालन करना जरूरी है। सोशल डिस्टेंसिंग का कड़ाई से पालन करने और सार्वजनिक स्थानों पर हर किसी को मास्क लगाने या चेहरा ढकने पर भी जोर दिया गया। 

भारत और चीन के बीच लद्दाख की एलएसी पर स्थित तनाव खत्म होने का नाम नहीं ले रहा है। चीन के आक्रामक रूख का जवाब भारत की तरफ से भी आक्रामकता के साथ दिया जा रहा है। चीन के आक्रामक रवैये का सामना करने के लिए भारतीय सेना ने भी पूर्वी लद्दाख में अपने सैनिकों, वाहनों और तोपों की संख्या बढ़ा दी है और अब नौसेना की एक टीम भी लद्दाख पहुंच गई है।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने एक टीवी चैनल से बात करते हुए कहा कि वो यूपी में वापस आए प्रवासी मजदूरों को गांरटीड रोजगार देंगे।

मध्य प्रदेश के कई शहरों में फसलों को नुकसान पहुंचाने के बाद टिड्डियों का झुंड झांसी के रास्ते अब उत्तर प्रदेश में प्रवेश कर गया है।

लॉकडाउन के चलते हुंडई के कारखाने में उत्पादन का काम रुक गया था, अब खबर आई है कि कंपनी ने करीब 5 हजार कारों का निर्यात किया है।

एक्टर सोनू सूद प्रवासी मजदूरों की मदद कर बसों के जरिए उन्हें घर भेज रहे हैं। इस काम के लिए वो रोजाना 20-22 घंटे काम कर रहे हैं।

दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल का कहना है कि उनके लिए कोरोना केस का बढ़ना चिंता की वजह नहीं है। लेकिन अगर मौतों का आंकड़ा बढ़ने लगा तो वो गंभीर बात होगी।

मोदी सरकार के एक साल पूरा होने पर बीजेपी अध्यक्ष जे पी नड्डा ने कहा कि अगर एक साल की उपलब्धियों पर नजर डालते हैं तो देश के लिए ऐतिहासिक फैसले लिए गए हैं।

भारत में आने वाले समय में मोबाइल नंबर 10 के बजाय 11 अंकों के हो सकते हैं और साथ ही सबके नंबर में बदलाव भी आ सकता है।

भारत प्राकृतिक खेती को बढ़ावा देकर 5 से 6 हजार करोड़ रुपए का कार्बन क्रेडिट हासिल कर सकता है। नीति आयोग के उपाध्यक्ष ने इस बारे में जानकारी दी है।

उत्तर भारत में शनिवार को जमकर बारिश हुई. मौसम पूर्वनुमान बताने वाली निजी एजेंसी स्काइमेट वेदर के मुताबिक दक्षिण-पश्चिम मॉनसून ने केरल में दस्तक दे दी है। दो दिन से केरल में जोरदार बारिश हो रही है। स्काइमेट वेदर ने शनिवार को अपने तय समय से पहले केरल में दक्षिण-पश्चिम मॉनसून के पहुंचने की घोषणा की। हालांकि देश के आधिकारिक भारतीय मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) ने कहा कि फिलहाल परिस्थितियां ऐसी घोषणा करने के अनुकूल नहीं हैं। इस बीच उत्तर भारत के राज्यों में भी जोरदार बारिश का दौर चल रहा है। देश की राजधानी दिल्ली और एनसीआर के इलाकों में शनिवार को जमकर बारिश हुई। आइए जानते हैं उत्तर भारत के राज्यों में 31 मई को बारिश का क्या अपडेट है:
अगले 24 घंटों के दौरान दक्षिण-पूर्वी और उससे सटे मध्य-पूर्वी अरब सागर पर लो प्रेशर का क्षेत्र बनने की संभावना है। 48 घंटों के अंदर यह डिप्रेशन बन सकता है। इस बीच उत्तर-पश्चिमी राजस्थान में चक्रवाती हवाओं का क्षेत्र बना हुआ है। दूसरा साइक्लोनिक सिस्टम छत्तीसगढ़ और उससे सटे इलाकों में है। गर्मी की तपिश से उत्तर भारत के इलाके पिछले एक हफ्ते से हलकान थे। लेकिन अब पिछले 24 घंटों से मौसम सुहावना हो गया है। मूसलाधार बारिश और तेज हवाओं ने हीटवेव से राहत दी है। छत्तीसगढ़, पूर्वी मध्य प्रदेश, पश्चिमी और मध्य उत्तर प्रदेश, दिल्ली, हरियाणा और राजस्थान के कई इलाकों में हल्की से मध्यम बारिश दर्ज हुई है। दिल्ली में आज भी बारिश का अनुमान है। वहीं एनसीआर के नोएडा में सुबह बारिश के बाद दोपहर एक बजे तक धूप खिल सकती है। 31 मई को उत्तर प्रदेश, बिहार के कुछ हिस्सों, हरियाणा, दिल्ली, राजस्थान, मध्य प्रदेश के पूर्वी और उत्तरी हिस्सों में हल्की से मध्यम बारिश का अनुमान है। शनिवार को यूपी की राजधानी लखनऊ में दोपहर बाद जोरदार बारिश हुई। लखनऊ में शनिवार को तापमान 35.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो कि सामान्य से चार डिग्री कम था। शहर में 57.4 मिलीमीटर बारिश भी दर्ज की गई। स्काइमेट के मुताबिक लखनऊ और आगरा में रविवार को भी दोपहर में बारिश हो सकती है। इसके साथ ही दिनभर बादल छाए रहेंगे। वहीं वाराणसी में बारिश के आसार नहीं हैं। गोरखपुर में बादल छाए रह सकते हैं लेकिन बारिश की संभावना नहीं है। बिहार की बात करें तो स्काइमेट के मुताबिक राजधानी पटना में आज बारिश के आसार नहीं हैं। हरियाणा की बात करें तो यहां चंडीगढ़ में बादल छाए रहेंगे, लक्षद्वीप में मूसलाधार वर्षा शुरू हो गई है। केरल और आंतरिक कर्नाटक में भी पिछले 24 घंटों के दौरान अच्छी वर्षा हुई।


India traversing on path to 'victory' against COVID-19: PM in open letter to countrymen on first anniv of his second term

Night curfew to continue beyond May 31 in Rajasthan: Gehlot

Lockdown extended in WB till June 15; govt allows TV, cinema production from June 1

Highest spike of 1,163 fresh COVID cases in Delhi takes total to over 18K; death toll climbs to 416

BCCI nominates Rohit for Khel Ratna, Dhawan, Ishant and Deepti for Arjuna

Hospitality services, malls to open from June 8; containment zones to remain in lockdown

Talks at military, diplomatic levels on to resolve Ladakh standoff: Rajnath

4 steps ahead, more than prepared to tackle COVID-19: Kejriwal

Year of accomplishments: Nadda on 1 yr of Modi 2.0

2 militants killed in Kulgam encounter