ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
अजित पवार के इस्तीफे के पीछे पारिवारिक दबाव या शरद पवार का ये दांव
November 27, 2019 • Desk • NATIONAL

 महाराष्‍ट्र में पल-पल बदलते सियासी हालात के बीच अब शिवसेना, एनसीपी और कांग्रेस गठबंधन की सरकार बनना तय हो गया है, जिसके मुख्‍यमंत्री उद्धव ठाकरे होंगे। उद्धव 28 नवंबर (गुरुवार) को मुख्‍यमंत्री पद की शपथ लेंगे। इससे पहले मंगलवार को देवेंद्र फडणवीस और अजित पवार ने क्रमश: सीएम व डिप्‍टी सीएम पद से इस्‍तीफा दे दिया था। अजित पवार के इस्तीफे के बाद ही आगे की तस्वीर साफ हो गई। शिवसेना, कांग्रेस और एनसीपी अपनी हारी हुई बाजी जीत चुके थे और ये साफ हो गया कि किंगमेकर की भूमिका में उद्धव ठाकरे अब महाराष्ट्र के किंग होंगे।उद्धव ठाकरे को महाराष्ट्र विकास अघाड़ी गठबंधन का नेता चुने जाने के बाद शिवसेना, कांग्रेस, एनसीपी के वरिष्ठ नेताओं ने राज्यपाल भगत सिंह कोठारी से मुलाकात की और सरकार बनाने का दावा पेश किया है। इस मुलाकात के बाद एनसीपी नेता जयंत पाटिल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए बताया कि तीनों दलों ने राज्यपाल को समर्थन पत्र सौंपा। गुरुवार, 28 नवंबर की तारीख शपथ ग्रहण के लिए निर्धारित की गई है। शाम 5.30 बजे उद्धव ठाकरे शिवाजी पार्क में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे।

पश्चिम बंगाल में राज्यपाल जगदीप धनखड़ और मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच दिनोंदिन तल्खी बढ़ती जा रही है। यह तल्खी मंगलवार को विधानसभा में भी देखने को मिली। संविधान दिवस के मौके पर विधानसभा पहुंचे राज्यपाल, ममता बनर्जी के पास से गुजरे लेकिन उन्होंने मुख्यमंत्री को नजरंदाज किया। राज्यपाल ने वहां विपक्ष के नेता अब्दुल मन्ना का अभिवादन किया लेकिन ममता से एक शब्द भी बातचीत नहीं की। 

एनसीपी के बड़े नेताओं ने अजित को मनाने की कोशिशें कीं लेकिन मामला बना नहीं। वहीं अजित को मनाने के लिए 'पवार परिवार' भी सक्रिय हो गया था। इसमें सुप्रिया सुले ने भी अपने भाई को मनाने का प्रयास किया और उनके पति से लेकर खुद अजित पवार के भाई ने भी कोशिशें कीं और शरद पवार की पत्नी ने भी अपने भतीजे अजित पवार को वापस एनसीपी में आने के लिए मनाने का प्रयास किया।अजित पवार के इस्तीफे के पीछे पारिवारिक दबाव था या शरद पवार का ये दांव आया काम!

सबरीमला स्थित भगवान अयप्पा मंदिर में पूजा करने के लिए मंगलवार को महिला अधिकार कार्यकर्ता तृप्ति देसाई कोच्चि पहुंचीं थीं, उनके साथ कुछ महीने पहले मंदिर में दर्शन कर चुकीं बिंदु अम्मिनी और अन्य कार्यकर्ता भी थे कि वहां पर उनके साथ एक हमले की घटना पेश आई है।


उत्तराखंड विधि आयोग के अध्यक्ष न्यायमूर्ति (सेवानिवृत्त) राजेश टंडन ने देश में समान नागरिक संहिता की हिमायत की. राज्य विधि आयोग की बैठक के बाद टंडन ने बताया कि बैठक में अनुच्छेद 44 के बारे में विस्तार से चर्चा हुई और सभी लोगों के विचार समान नागरिक संहिता के पक्ष में थे. उन्होंने कहा कि हम 'एक देश एक संविधान' में विश्वास रखते हैं. यह हर्ष का विषय है कि पीएम मोदी इस उद्देश्य की ओर संकल्प के साथ बढ रहे हैं.

बहराइचः शहर के घंटाघर इलाके में देर रात किराना की दुकान में अज्ञात कारणों से आग लग गई. मौके पर पहुंची दमकल विभाग की गाड़ी ने आग पर काबू पाया.

देहारादूनः उत्तराखंड कैबिनेट की आज अहम बैठक होगी. इस दौरान कई महत्वपूर्ण प्रस्तावों को मंजूरी मिल सकती है.

लखनऊः उत्तर प्रदेश परिवहन निगम द्वारा आयोजित दिव्यांग स्टॉल का आज उद्घाटन होगा. बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष स्वतंत्र देव सिंह और परिवहन मंत्री अशोक कटारिया मौजूद रहेंगे. 

देहरादूनः मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत आज राज्यसभा सांसद अनिल बलूनी का स्वास्थ्य जानने के लिए मुंबई पहुंचेंगे. इसके बाद वो महाराष्ट्र राजभवन में रात्रि विश्राम करेंगे.

The State Government has now no plan to either open or make an audit of the jewelleries kept in the Ratna Bhandar of the Jagannath Temple, Puri. Law Minister Pratap Jena informed this in the State Assembly in response to a question of Congress MLA Suresh Kumar Routray on Tuesday. 

Air quality not within standard in twin cities

'Why Govt wants to adjourn House before time?'

'JSpur Dalit girl ended life out of shame'

BK Sharma ousted to derail probe: BJP

'Table co-op bank audit reports in House'

Govt going soft on M'nadi row: Narasingha

Assembly holds Constitution Day
Gangster Siva held in encounter in Rayagada

Sustainable waste mgmt meet at KIIT from today

9-hour power cut in Ganjam today

2 die, 1 hurt in bike mishap in Bhadrak


 
 
UP govt will pay back power staff's PF money: Yogi

| Chief Minister Yogi Adityanath on Tuesday vowed to return “every single penny” of power employees' provident fund invested in tainted housing finance firm DHFL by confiscating properties of those responsible for the scam. “We will not let the interest of any employee be 

Ambedkar's dream realised with repeal of Arts 370, 35A: Yogi

Guv: Abrogation of Art 370 has ensured unity, integrity

Political parties should follow Constitution in spirit, says Mayawati

HG scam: Noida police arrest whistle-blower

Sunni Waqf Board decides not to file review petition

9 die as UPSRTC bus collides with truck in Banda

EC announces bypoll for 1 RS seat from UP


UP starts campaign against filariasis in 19 districts

Saints divided over who should head Ram temple trust

UP legislature's special day-long session today

'BJP shattered Constitution by forming govt in Maha'

UP Congress expels 10 senior leaders

Akhilesh hits out at BJP over Maha issue