ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
धड़ल्ले से संचालित हो रहे अबैध रूप से पैथोलॉजी सेंटर
March 6, 2019 • रमन सिंह

धड़ल्ले से संचालित हो रहे अबैध रूप से पैथोलॉजी सेंटर ।


सुल्तानपुर, कूरेभार : जहां बीमार पड़े लोगों को इलाज के नाम पर नाजायज कीमत चुकानी पड़ रही है। बिचौलियों के बूते फल-फूल रहे चिकित्सा बाजार में अल्ट्रासाउंड एवं पैथोलॉजिकल सेन्टर जांच के बहाने मरीजों का जम कर दोहन किया जा रहा है। बेहतर इलाज की उम्मीद लेकर लोग अयोध्या प्रयाग राज मार्ग पर स्थित कूरेभार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र पर प्रतिदिन सुदूर इलाकों से आनेवाले मरीजों की ओ पी डी दो से तीन सौ से कम नही है इनमें अधिकतर मरीजों को एक्स-रे,अल्ट्रासाउंड एवं विभिन्न प्रकार की जांच के नाम सलाह दिया जाता है।
कूरेभार कस्बे में चल रहे अवैध रूप से अल्ट्रासाउंड एवम पैथोलॉजी सेंटर पर जांच के नाम पर मरीजों से मनमाना पैसे वसूल रहे हैं। इन केन्द्रों पर एक ही प्रकार की जांच के लिए अलग-अलग कीमत अदा करनी पड़ती है। जांच की दर निर्धारित नहीं होने और इस बारे में आम मरीजों को कोई जानकारी नही है बाजारों में ऐसे केन्द्रों की कमी नहीं है, जो बिना निबंधन के अवैध रूप से चलाये जा रहे है। कायदे से प्रत्येक जांच केन्द्र में एक चिकित्सक और एक पैरा मेडिकल स्टाफ का होना जरूरी है इनकी जांच की गुणवत्ता और प्रमाणिकता भी संदिग्ध है। चिकित्सकों से तय कमीशन के आधार पर इनका धंधा बेरोकटोक चल रहा है। ये मरीजों का सिर्फ आर्थिक दोहन ही नहीं कर रहे बल्कि उनके स्वास्थ्य के साथ भी खिलवाड़ कर रहे हैं। क्या कहते हैं भाजपा नेता संदीप तिवारी चतुरपुर कहते है एक अल्ट्रासाउंड के लिए 700 रुपये तक लिए जा रहे हैं। इसकी कोई रसीद भी नहीं दी जाती।  इस क्षेत्र में बिचौलिए हावी हैं और मरीज लूटे जा रहे हैं। मिन्टू पाण्डेय कोडरी कहते है स्वास्थ्य विभाग को इस पर गंभीर होना चाहिए और उचित कदम उठाना चाहिए। निजी अस्पतालों और जांच केंद्रों का नियमित रूप से निरीक्षण होना चाहिए। बिचौलियों के चक्कर में पड़ कर भोले -भाले मरीज लूटे जा रहे हैं। इसे देखने -सुनने वाला कोई नहीं है।  इस पर नियम सम्मत कार्रवाई होनी चाहिए। मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ सी बी एन त्रिपाठी ने बताया कि सी एच सी पर जो भी मरीज आते है उनको अल्ट्रासाउंड व एक्सरे जांच के लिये जिला अस्पताल में भेजा जाय । कस्बे में अबैध रूप से चल रहे सेंटरों की जांच करवा कर कार्यवाही की जाएगी।