ALL International NATIONAL State ADMINISTRATION Photo Gallery Economy Education/Science & Technology Environment & Agriculture Entertainment Sports
आज के प्रमुख समाचार 9 sept
September 9, 2019 • Desk

 

भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (ISRO) के प्रमुख के सिवन ने रविवार को कहा कि हमें चंद्रमा की सतह पर विक्रम लैंडर की लोकेशन का पता चल गया है और ऑर्बिटर ने लैंडर की एक थर्मल इमेज क्लिक की है। हालांकि अभी तक लैंडर से कम्युनिकेशन नहीं हो सका है। ISRO ने कहा कि चंद्रयान मिशन की 90 से 95 फीसदी प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा किया गया। अगले 14 दिनों में विक्रम लैंडर से संपर्क स्थापित करने की कोशिश की जाएगी।  भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) प्रमुख के सिवन ने शनिवार को कहा कि एजेंसी चंद्रयान 2 के विक्रम लैंडर से अगले 14 दिनों के भीतर संपर्क साधने की भरपूर कोशिश करेगा। इसरो प्रमुख ने कहा कि विक्रम लैंडर की अंतिम स्थिति को सही तरीके से मॉनीटर नहीं किया जा सका था जिसके बाद जमीन से उसका संपर्क टूट गया। 
अगले 14 दिनों में विक्रम लैंडर से संपर्क साधने की करेंगे कोशिश- इसरो प्रमुख

भारत का चंद्रयान भले ही चांद पर लैंडिग ना कर सका हो लेकिन दुनियाभर में इसकी चर्चा के साथ-साथ तारीफ भी हो रही है। अमेरिका हो या पड़ोसी देश, सबने इसरो के इस अभियान की तारीफ की है। अमेरिका की प्रसिद्ध स्पेस एजेंसी नासा ने ट्वीट कर ना केवल इसरो की तारीफ की है बल्कि इस यात्रा को खुद के लिए प्रेरणादायक बताते हुए भविष्य में सौरमंडल के क्षेत्र में साथ काम करने की इच्छा जताई है।
NASA ने भी माना इसरो का लोहा, कहा- हमारे लिए प्रेरणादायक है आपकी यात्रा, भविष्य में साथ काम करने की जताई इच्छा

चंद्रयान 2 के विक्रम लैंडर के चांद की सतह पर उतरने की कोशिश के दौरान इसका संपर्क जमीनी केंद्र से टूट गया और देश- दुनिया में कई चेहरों पर मायूसी छा गई। यह भारत के वैज्ञानिकों का साहसी और महत्वाकांक्षी मिशन है जिसे ISRO ने बेहद बारीकी और कुशलता से अंजाम देने की कोशिश की। ISRO की ओर से दी गई ताजा जानकारी के मुताबिक मिशन की 90 से 95 फीसदी प्रक्रिया को सफलतापूर्वक पूरा किया गया।
चंद्रयान 2 मिशन 90- 95 प्रतिशत सफल, 7 साल तक चांद को जानेगा ऑर्बिटर, ISRO ने बताई ये उपलब्धियां

एनसीपी नेता गणेश नाईक 11 सितंबर को 55 एनसीपी कॉर्पोरेटर के साथ बीजेपी में शामिल होंगे। हाल ही में उनके बेटे संदीप नाईक बीजेपी में शामिल हुए थे।

ऑस्ट्रेलिया का कब्जा बरकरार, मैनचेस्टर में इंग्लैंड को दी करारी मात 

एशेज सीरीज के मैनचेस्टर में खेले गए चौथे टेस्ट मैच में मेजबान इंग्लैंड को मात देकर ऑस्ट्रेलिया ने ट्रॉफी पर अपना कब्जा बरकरार रखा है। 18 साल बाद ऑस्ट्रलिया ऐसा करने में सफल हुई है।

ओडिशा में आरटीओ ने एक ट्रक चालक का 86,500 रुपए का चालान काट दिया। हालांकि मामला 70,000 रुपए में निपटाया गया। संशोधित मोटर वाहन अधिनियम के तहत ये चालान कटा।

अमित शाह ने कहा- मोदी सरकार अनुच्छेद 371 को नहीं छुएगी

गृह मंत्री अमित शाह ने गुवाहाटी में कहा कि भारतीय संविधान का अनुच्छेद 371 एक विशेष प्रावधान है। भाजपा सरकार अनुच्छेद 371 का सम्मान करती है और इसे किसी भी तरह से नहीं बदलेगी।

 PM नरेंद्र मोदी- 5 वर्षों में हरियाणा में परिवारवाद और भ्रष्टाचार पर कड़ा प्रहार हुआ है

हरियाणा में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले रविवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हरियाणा के रोहतक में एक रैली को संबोधित किया। रैली को संबोधित करने से पहले उन्होंने विभिन्न विकास परियोजनाओं की नींव रखी जिसमें श्री शीतला माता देवी मेडिकल कालेज, एक मेगा फूडपार्क आदि शामिल है। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्ट्रर की तारीफ करते हुए कहा कि हरियाणा का हर परिवार अब मनोहर बन गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे कर चुके हैं। इस बीच विपक्षी पार्टी कांग्रेस ने मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर सरकार पर सीधा हमला किया। कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने ट्वीट करते हुए लिखा- 100 दिन नो विकास पर मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल को बधाई।

मोदी सरकार के 100 दिन, राहुल गांधी ने कटाक्ष करते हुए कुछ इस तरह सरकार की दो बधाई

बिहार में अब जेडीयू ने बदला 'ठीके तो है नीतीश कुमार' वाला नारा, लालू की पार्टी आरजेडी ने दिया जवाब

बिहार में अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों के लिए अभी से तैयारियां शुरू हो गई हैं। सत्ताधारी जनला दल यूनाईटेड (जेडीयू) ने कुछ दिन पहले एक मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को लेकर एक पोस्टर जारी किया था जिसमें लिखा था, 'क्‍यों करें विचार, ठीके तो हैं नीतीश कुमार।' इसका जवाब देते हुए लालू प्रसाद यादव की राष्‍ट्रीय जनता दल (आरजेडी) ने भी ठीक सामने स्थित अपने मुख्‍यालय पर 'क्यों ना करें विचार, बिहार है बीमार का बैनर' लगवा दिया।

JNU छात्र संघ चुनाव की मतगणना जारी, सभी सीटों पर लेफ्ट यूनिटी को भारी बढ़त

 जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) की मतगणना छात्रों और प्रशासन के बीच गतिरोध के बाद शुरू हुई मतगणना फिलहाल जारी है। ताजा रूझानों की बात करें तो लेफ्ट यूनिटी ने प्रतिद्वंदी एबीवीपी और एनएसयूआई पर भारी बढ़त बनाई हुई है। शुक्रवार को जेएनयूएसयू चुनाव में 67.9 फीसदी मतदान हुआ जो सात वर्षों में सबसे अधिक माना जा रहा है।

मशहूर वकील और पूर्व केंद्रीय मंत्री राम जेठमलानी का निधन, कुछ समय से थे बीमार

मशहूर वकील और पूर्व केंद्रीय मंत्री राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन हो गया है। राष्ट्रीय जनता दल के राज्यसभा सांसद जेठमलानी पिछले काफी समय से बीमार चल रहे थे। अटल बिहारी वाजपेयी सरकार में राम जेठमलानी देश के कानून, न्‍याय और कंपनी अफेयर मंत्री रहे थे।

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने रविवार को अपने मंत्रिमंडल के सहयोगियों के साथ IIM लखनऊ में

सुशासन और प्रबंधन की बारीकियां समझीं. मुख्यमंत्री योगी ने इस मौके पर कहा कि जीवन सीखने के लिए होता है. जीवन की प्रत्येक घटना से कुछ न कुछ सीखने को मिलता है. सीखने के लिए जहां कहीं भी अवसर मिले उसका लाभ अवश्य लेना चाहिए. उन्होंने कहा कि राज्य सरकार विगत ढाई वर्षों में जनता की आशाओं और आकांक्षाओं की कसौटी पर खरी उतरी है. मुख्यमंत्री IIM में आयोजित लीडरशिप डेवलपमेन्ट 'मंथन-1' कार्यक्रम में बोल रहे थे.
यूपी के मंत्रियों को IIM लखनऊ देगा ट्रेनिंग, अच्छा नेता बनने के मिलेंगे सबक. उन्होंने कहा कि IIM के सहयोग से मंथन कार्यक्रम के तीन विशेष सत्रों का आयोजन किया जा रहा है, जिसका प्रथम सत्र आज आयोजित किया गया है. प्रदेश के सर्वांगिण विकास में इस तरह के प्रशिक्षण कार्यक्रम सहायक सिद्ध हो सकते हैं. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राज्य को श्रेष्ठ बनाने की दिशा में सकारात्मक प्रयास कर रही है. इसके दृष्टिगत प्रदेश सरकार सुशासन, प्रबंधन, नेतृत्व कौशल व जनभागीदारी को बेहतर ढंग से जानने के लिए IIM संस्थान से सहयोग प्राप्त कर रही है. पहली बार किसी राज्य सरकार ने देश में अपने राजनीतिक नेतृत्व की दक्षता के लिए देश के श्रेष्ठ प्रबन्धन संस्थान से प्रशिक्षण लेने का फैसला किया है.

उत्तर प्रदेश: ट्रैफिक नियम का उल्लंघन करने वाले पुलिसकर्मियों को देना होगा दोगुना जुर्माना


सीएम योगी ने कहा कि प्रदेश सरकार 'सबका साथ-सबका विकास-सबका विश्वास' की अवधारणा को अपनाते हुए जनता की सेवा कर रही है. अपना अनुभव साझा करते हुए उन्होंने कहा कि एक प्रशासनिक अधिकारी द्वारा दिये गये सुझावों को प्राथमिक विद्यालयों पर लागू किया, जिसके सकारात्मक परिणाम आये. शासन की योजनाओं को जनता तक पहुंचाने में शिक्षण संस्थान महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकते हैं.

इस मौके पर IIM की निदेशक अर्चना शुक्ला ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री की प्रेरणा से यह कार्यक्रम सम्पन्न हो रहा है. उत्तर प्रदेश भारत की रीढ़ है. उत्तर प्रदेश का विकास करके ही हम देश के विकास में सहभागी बन सकते हैं. उन्होंने कहा कि एक राजनेता से जनता को काफी उम्मीदें होती हैं. इन उम्मीदों को पूरा करने में यह मंथन कार्यक्रम महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा.इस अवसर पर राज्य सरकार के मंत्रिगण, आईआईएम—लखनऊ के शिक्षाविद् भी उपस्थित रहे ।ग्रेटर नोएडा में पीएम मोदी, 'कॉप-14' कार्यक्रम का करेंगे उद्घाटन

हापुड़: भाजपा नेता की दिनदहाड़े गोली मारकर हत्या, मचा हड़कंप 

चिन्मयानंद की मुश्किलें बढ़ीं, वीडियो वायरल करने वाली छात्रा ने लगाया रेप का आरोप
यूपी की 12 विधानसभा सीटों पर कब होगे चुनाव

केंद्रीय चुनाव आयोग की तैयारियों को देखते हुए आसार बन रहे हैं कि उत्तर प्रदेश की विधान सभा की खाली चल रही 12 सीटों के उपचुनाव अक्तूबर में होंगे। आयोग हरियाणा, महाराष्ट्र और झारखंड विधान सभा चुनाव के साथ ही उत्तर प्रदेश की इन 12 विस सीटों के उपचुनाव भी करवाने की तैयारी शुरू कर चुका है। 
अभी हाल ही में आयोग ने इन तीनों राज्यों की सरकारों को निर्देश दिए हैं कि शासन-प्रशासन में जो अफसर व अन्य कर्मचारी एक ही जगह पर तीन साल से जमे हुए हैं। उन्हें 31 अक्टूबर तक अन्यत्र स्थानांतरित कर दिया जाए। आयोग के इन निर्देशों से अनुमान लगाया जा रहा है कि हरियाणा, महाराष्ट्र और झारखंड के विस चुनाव अक्तूबर में हो सकते हैं। हरियाणा विधानसभा का कार्यकाल 2 नवम्बर को, महाराष्ट्र विधानसभा का 9 नवम्बर को और झारखंड विधानसभा का कार्यकाल 27 दिसंबर को खत्म हो रहा है। आयोग इन तीनों राज्यों के विधानसभा चुनाव एक साथ करवा सकता है।
 हरियाणा विधानसभा का कार्यकाल 2  नवम्बर और महाराष्ट्र विधानसभा का 9 नवम्बर को खत्म हो रहा है। इस लिहाज से अनुमान यह लगाया जा रहा है कि अक्तूबर के अंतिम सप्ताह में दीपावली के त्यौहार से पहले इन तीनों राज्यों की विस के आम चुनाव और उत्तर प्रदेश विधानसभा के उपचुनाव की प्रक्रिया पूरी कर ली जाए। 
उत्तर प्रदेश की खाली चल रही 12 विस सीटों का उपचुनाव इन सीटों से चुने गये विधायकों द्वारा त्यागपत्र देने या अन्य वजहों से इनके खाली  होने के 6 महीने के भीतर करवा लिया जाना चाहिए। चूंकि इन 12 सीटों में से 11 सीटों पर लोकसभा चुनाव जीतकर सांसद बने विधायकों ने बीती जून में इस्तीफे दिए हैं। इस लिहाज से दिसम्बर तक इन सीटों के उपचुनाव करवा लिए जाने चाहिए। एक अन्य विस सीट आजमगढ़ की घोसी है जहां से निर्वाचित हुए फागू चौहान को बिहार का राज्यपाल बनाया गया। उन्होंने 26 जुलाई को विधानसभा से इस्तीफा दिया है। 
इस लिहाज से इस सीट पर जनवरी 2020 तक उपचुनाव करवाए जाने का समय है। मगर आयोग इस सीट को शामिल करते हुए प्रदेश की सभी 12 खाली विस सीटों का उपचुनाव एक साथ ही करवाएगा। प्रदेश के मुख्य निर्वाचन अधिकारी कार्यालय के सूत्र भी स्वीकार करते हैं कि प्रदेश की इन खाली 12 विस सीटों पर उपचुनाव नवम्बर में हरियाणा, झारखडं व महाराष्ट्र विस चुनाव के साथ  ही होने के आसार हैं।
यह सीटें हैं खाली
-गोविन्दनगर कानपुर, लखनऊ कैण्ट, टुण्डला फिरोजाबाद, गंगोह सहारनपुर, बलहा बहराइच, मानिकपुर चित्रकूट, प्रतापगढ़ सदर, इगलास अलीगढ़, जैदपुर-बाराबंकी, जलालपुर-अम्बेडकरनगर, रामपुर और घोसी
-2017 के विस चुनाव में इनमें से 9 सीटों पर भाजपा के विधायक जीते थे। प्रतापगढ़ की सीट भाजपा की सहयोगी पार्टी अपना दल (एस) के कब्जे में गयी थी जबकि रामपुर सपा और जलालपुर अम्बेडकरनगर की सीट बसपा ने जीती थी।